सब अपने, कार्रवाई किस पर करूं, अवैध रेत उत्खनन पर बोले मंत्री मरकाम

0
111

उमरिया, जिले में रेत का अवैध उत्खनन अरसे से खुलेआम हो रहा है। कई बार शिकायत करने के बाद भी विभाग कोई भी कार्रवाई करने से हिचकता है। कभी कभार नाम मात्र की कार्रवाई कर अपने कर्तव्यों से इतिश्री कर लेता है। हां ये जरूर है कि रेत माफिया पर शिकंजा कसने में नाकाम खनिज विभाग अपना जोर गरीब किसानों पर लगाने में मौका मिलने पर कोई कसर नहीं छोड़ता। अभी हाल में ही विभाग ने एक गरीब किसान जो खद बीज लेकर अपने ट्रैक्टर से घर जा रहा था उसे पकड़ा और उसका ट्रैक्टर भी जब्त कर लिया।

जिले में सोन, महानदी, भदार और उमरार नदी का सीना छलनी करने वाले रेत माफिया पर कार्रवाई करने के नाम पर विभाग मौन हो जाता है और जब इस संबंध में जिले के प्रभारी मंत्री ओंकार सिंह मरकाम से इसकी शिकायत की जाती है तो उनका कहना होता है कि सब अपने हैं किस पर कार्रवाई करूं।

अभी दो दिन पहले एक बैठक में शामिल होने आए जिले के प्रभारी मंत्री औंकार सिंह मरकाम से जब अवैध रेत उत्खनन के बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा अवैध रेत उत्खनन करने वाले और शिकायत करने वाले सब अपने हैं किस पर कार्रवाई करूं।

ग्राम बेल्दी के ग्रामीणों ने भी प्रशासनिक कार्यवाही पर सवाल उठाए हैं ग्रामीणों की माने तो जिले में उमरार, सोन, महानदी एवं भदार नदी में माफिया द्वारा एनजीटी की रोक के बावजूद बारिश के मौसम में भी बड़ी बड़ी मशीनों से लगातार अवैध उत्खनन किया जा रहा है, लेकिन विभाग कार्यवाही करने की बजाय उन्हें सरंक्षण दे रहा है। वहीं मंत्री ओंकार सिंह का विवादित बयान रेत माफियाओं को सरंक्षण देता नजर आ रहा है।
उमरिया में रेत के अवैध उत्खनन और व्यापार में प्रशासनिक सांठगांठ तो जगजाहिर है लेकिन प्रभारी मंत्री के बयान के बाद माफियाओं को सरंक्षण देने में प्रदेश में बैठी सरकार भी पीछे नहीं। इस बात की मुहर लग गई है ऐसे में नदियों का स्वरूप बिगाड़ रहे माफियाओं पर शिकंजा कौन कसेगा बड़ा सवाल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here