दिल्ली के जफराबाद और जामिया मिल्लिया इस्लामिया से हटाए गए प्रदर्शनकारी

0
33

नई दिल्ली। शाहीन बाग के बाद अब दिल्‍ली पुलिस ने जाफराबाद में भी सड़क किनारे चल रहे CAA और NRC विरोधी धरना-प्रदर्शन को बंद करा दिया है। जानकारी के मुताबिक, वहां तकरीबन 20 प्रदर्शनकारी महिलाएं धरने पर बैठी थीं। यहां पर ड्रोन से भी निगरानी रखी जा रही है। इसके अलावा पुलिस ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया के गेट नंबर-7 से पर भी धरना स्थल को खाली करवा दिया है। यहां पुलिस ने जामिया प्रोटेस्ट का मंच और बैनर हटा दिया है। इसके बाद इन दोनों जगहों पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। वहीं, हौजरानी इलाके में भी सीएए विरोधी धरनास्‍थल को खाली करवाया गया है।

हालांकि, जामिया मामले में कोआर्डिनेशन कमेटी ने कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से पहले ही धरना अस्थायी रूप से बंद कर दिया था। इसके साथ ही दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को शाहीन बाग प्रदर्शन स्‍थल को भी खाली करवा दिया है। तीन महीने से भी ज्‍यादा समय के बाद वहां मौजूद सभी लोगों को हटाया गया है। इसके अलावा वहां लगे टेंट भी उखाड़ दिए गए। बता दें कि दिल्ली में फिलहाल 8 प्रदर्शन करने वाले लोकेशन को खाली कराया गया है।​

इससे पहले डीसीपी (साउथ ईस्ट दिल्‍ली) ने बताया कि शाहीन बाग और अन्य जगहों पर प्रदर्शन जारी रखने वालों से कोरोना के कारण धरनास्थल से बाहर निकलने का अनुरोध किया गया था, लेकिन इस पर कोई अमल न होने पर पुलिस ने जगह को खाली कराने का कदम उठाया।
राज्य सरकार और भी सख्त
बता दें कि कोरोना वायरस को थर्ड स्टेज में पहुंचने से रोकने के लिए अब केंद्र के साथ ही राज्य सरकार भी सख्त होती जा रही है। इसके चलते पहले दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने राजधानी को 31 मार्च तक लॉकडाउन करने के आदेश दिए थे। अब लॉकडाउन का पालन न होते देख हालात को काबू में करने के लिए दिल्ली पुलिस ने सख्ती बरती है। दिल्ली पुलिस के अनुसार मंगलवार से धारा 144 सख्ती से लागू होगी। इस दौरान चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here