जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी इरशाद अहमद रेशी का घर कुर्क करने का आदेश

0
5

श्रीनगर, जम्मू कश्मीर के लेथपुरा में सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर में हुए आत्मघाती हमले के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने जैश-ए-मोहम्मद के गिरफ्तार आतंकवादी इरशाद अहमद रेशी का घर कुर्क करने का आदेश दिया है।

एनआईए ने साल 2017 में लेथपुरा में सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर पर हुए जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादियों के फिदायीन हमले के संबंध में पिछले साल अगस्त में चार लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया था। इस हमले में पांच जवान मारे गए थे। जानकारी के मुताबिक, जम्मू में एनआईए की विशेष अदालत में अवंतिपुरा के फयाज अहमद मागरे और निसार अहमद तांत्रे तथा पुलवामा के सैयद हिलाल अंद्राबी और इरशाद अहमद रेशी के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया गया था।

सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर की पहले की गई थी रेकी
एनआईए ने तीनों आतंकवादियों की पहचान कर ली थी। दो पुलवामा निवासी फरदीन अहमद खांडे और मंजूर अहमद बाबा थे और तीसरा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर का निवासी अब्दुल शकूर था। नूर मोहम्मद तांत्रे ने अन्य आरोपी के साथ मिलकर दिसंबर 2017 के दूसरे सप्ताह में लेथपुरा में सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर की रेकी की थी। हालांकि हमला करने से पहले तांत्रे सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया था।

31 दिसंबर 2017 को हुआ था हमला
जानकारी के मुताबिक, 30-31 दिसंबर 2017 की रात तीन आतंकियों ने लेथपुरा स्थित सीआरपीएफ के ग्रुप सेंटर पर आतंकवादी हमला किया था। इस हमले में सेना के पांच जवान शहीद हो गए थे। जबकि हमला करने वाला एक आतंकी एनकाउंटर में मारा गया था। इस पूरे मामले की जांच एनआईए को सौंपी गई थी।