भारत परमाणु हथियार खत्म करने के कमिटमेंट को दोहराता है: भारत के विदेश सचिव

0
21

संयुक्त राष्ट्र में भारत ने कहा- भारत परमाणु हथियारों को लेकर ‘पहले इस्तेमाल नहीं’ की नीति का पालन करता है

न्यूयॉर्क, भारत परमाणु हथियारों को लेकर ‘पहले इस्तेमाल नहीं’ की नीति का पालन करता है। भारत ऐसे देशों के खिलाफ भी परमाणु हथियार इस्तेमाल नहीं करने की नीति पर कायम है जिनके पास परमाणु ताकत नहीं है। भारत हथियार खत्म करने और ज्यादा विस्तार रोकने के वैश्विक प्रयास में अहम पार्टनर है। यह आश्वासन भारत के विदेश सचिव हर्ष वर्धन ऋंगला ने शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र में दिया है।

परमाणु हथियार खत्म करने को प्रतिबद्ध
‘इंटरनैशनल डे फॉर द टोटल एलिमिनेशन ऑफ न्यूक्लियर वेपन्स’ के मौके पर बोलते हुए हर्ष ने कहा, ‘भारत कॉन्फ्रेंस ऑन डिसआर्मामेंट को इकलौते मल्टिलेटरल डिसआर्मामेंट समझौते का फोरम होने के नाते बहुत प्राथमिकता देता है और विस्तृत परमाणु हथियारों के कन्वेन्शन पर समझौते का समर्थन करता है।’ उन्होंने आगे कहा कि भारत परमाणु हथियार खत्म करने के कमिटमेंट को दोहराता है।

परमाणु क्षमता वाले देश करें बात
विदेश सचिव ने बताया कि इस दिशा में भारत ने यूनाइटेड नेशन्स जनरल असेंबली की पहली कमिटी में 2006 में जमा किए वर्किंग पेपर और कॉन्फ्रेंस ऑन डिसआर्मामेंट में अपनी प्रतिबद्धता साफ की है। हर्ष वर्धन ने कहा, ‘हमें लगता है कि परमाणु हथियारों को यूनिवर्सल प्रतिबद्धता और सहमित से कायम किए गए बहुपक्षीय फ्रेमवर्क के एक-एक कदम के जरिए खत्म किया जा सकता है।’ भारत सभी परमाणु क्षमता वाले देशों के बीच बातचीत का समर्थन करता है ताकि विश्वास और भरोसा कायम किया जा सके।