up panchayat election: अयोध्या, काशी और मथुरा में चली साइकिल, मुरझाया कमल

0
450

बंगाल के साथ भाजपा को यूपी में तगड़ा झटका

लखनऊ। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव में बीजेपी को तगड़ा झटका लगने के बाद अब उत्तर प्रदेश में भी पार्टी की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं। उत्तर प्रदेश के पंचायत चुनाव के नतीजों से सत्तारूढ़ योगी आदित्यनाथ सरकार को बड़ा झटका लगा है।

बीजेपी सरकार को तीन जिलों वाराणसी, अयोध्या और मथुरा में चुनावी शिकस्त मिली है। यहां विपक्षी पार्टी सपा ने बड़ा खेल कर दिया। उत्तर प्रदेश में अगले 8 महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पंचायत चुनाव के सेमीफाइनल में मिली शिकस्त योगी सरकार के लिए बड़ा झटका है।

दरअसल, वाराणसी में विधान परिषद के चुनाव के बाद अब पंचायत के चुनाव में भी बीजेपी को पराजय का सामना करना पड़ा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में जिला पंचायत की 40 में से सिर्फ 8 सीटें ही बीजेपी हासिल कर सकी, जबकि सपा के खाते में 14 सीटें, मायावती की बीएसपी के खाते में 5 सीटें आई हैं। यहां अपना दल (एस) 5 सीटें, आम आदमी पार्टी और सुभासपा को 1-1 सीटें से संतोष करना पड़ा है, जबकि 3 निर्दलीय उम्मीदवारों के खाते में गई हैं।

उधर, कन्हैया की नगरी मथुरा में भी बीजेपी को बड़ी हार देखनी पड़ी। यहां बीएसपी ने 12 और चौधरी अजीत सिंह की राष्ट्रीय लोकदल ने 9 सीटों पर जीत दर्ज की है। जबकि सत्तारुढ़ बीजेपी को सिर्फ 8 सीटों से संतोष करना पड़ा। हालांकि, सपा ने एक सीट के साथ खाता खोलने में कामयाब रही। सबसे बड़ा नुकसान कांग्रेस को हुआ है। पार्टी यहां खाता तक नहीं खोल सकी। वहीं 3 निर्दलीय प्रत्याशी जीत गए।

इधर, भगवान श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या में भी बीजेपी की हालत खराब है। यहां की 40 जिला पंचायत सीटों में से 24 पर सपा की साइकिल दौड़ती दिख रही है। बीजेपी के खाते में महज 6 सीटें आईं। बाकी पर निर्दलियों ने जीत दर्ज की।

गौरतलब है कि केंद्र में सत्तारुढ़ बीजेपी के सियासी एजेंडें में अयोध्या-मथुरा-काशी तीनों सबसे अहम रहे हैं। यही वजह है कि आज इन जिलों में सियासी प्रदर्शन की चर्चा ज्यादा है। खास बात भी है कि प्रभु श्रीराम और हिंदुत्व बीजेपी के प्रमुख एजेंडें में रहा।

केंद्र और राज्य दोनों जगह बीजेपी की सरकार के साथ अयोध्या में भी राममंदिर निर्माण का भूमिपूजन भी बीजेपी के कार्यकाल में हुआ है, जिसका श्रेय बीजेपी खुद लेती है। वाराणसी पीएम नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है। अयोध्या के बाद अब बीजेपी ने मथुरा के कृष्ण जन्मभूमि और वाराणसी के ज्ञानवानी मस्जिद पर भी कदम बढ़ा दिए हैं।