सिन्धिया परिवार से गई थी गांधी की हत्या में प्रयोग की गई पिस्टल: प्रवीण पाठक

0
166

कांग्रेस हाईकमान के सामने सबूत दिया पार्टी के साथ होने का सबूत

ग्वालियर, राजनैतिक मंच से सिंधिया की जय जयराम करने वाले कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने राज परिवार पर गंभीर आरोप लगाये । उन्होंने महात्मा गांधी की हत्या में पिस्टल राज परिवार से जाने का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं पूरे ग्वालियर को इसके लिये बदनामी का दंश झेलने की बात कही है।

मप्र में सत्ता पलट के बाद बयानबाजी से बच रहे ग्वालियर दक्षिण से कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने सिंधिया परिवार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। एक चुनावी सभा के बाद मीडिया से चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि ग्वालियर में हमने जन्म लिया है तो ये देश हम कब झेलेंगे कि 1857 में जो गद्दारी की गई उसका कलंक ग्वालियर की जनता पर लगेगा । राष्ट्रपिता महात्मा का हत्या करने के लिये पिस्टल राज घराने से गया , ये दंश हम कब तक झेलेंगे। इन काले इतिहास के पन्नों पर धीरे धीरे धूल जम रही थी कि दोबारा 2020 में राज घराने ने पूरे विश्व में ग्वालियर को फिर शर्मसार कर दिया और लोकतंत्र की हत्या कर दी। अब ग्वालियर चंबल को मौका है इन गद्दारों को सबक सिखाने का। विधायक पाठक के इस बयान से ग्वालियर-चंबल की राजनीति गरमा गई है। सिंधिया समर्थकों ने भी देर रात प्रवीण पाठक पर सोशल मीडिया पर जमकर भड़ास निकाली।

सिंधिया परिवार से प्रत्यक्ष नजरें बचाने वाले विधायक प्रवीण पाठक के तीखे हमले के कई मायने बताये जा रहे हैं। दरअसल बीते रोज कांंग्रेस विधायक राहुल लोधी ने अप्रत्याशित तौर पर कांग्रेस से इस्तीफा देकर ऐन चुनाव में भाजपा की सदस्यता ले ली। ऐसे में प्रवीण पाठक पर भी सिंधिया के नजदीकी होने के आरोप लगते रहे हैं। ये बयान जारी कर के पाठक ने कांग्रेस हाईकमान के सामने सबूत दे दिया कि वे पार्टी के साथ है।

प्रवीण पाठक का टिकट पिछले चुनाव में सिंधिया ने ही फाइनल किया था। दरअसल टिकट डॉ रश्मि पंवार शर्मा का तय हुआ था। जबकि सिंधिया के निज सचिव पुरुषोत्तम पाराशर की ये टिकट कराने में विशेष भूमिका मानी जाती है। प्रवीण ने बैंगलोर कांड मे भी सिंधिया से दूरी बनाकर अपने इरादे साफ कर दिये थे। अब क्षेत्र मे पाठक का जमीनी स्तर पर विरोध तय माना जा रहा है।