जियावन पुलिस राजनीतिक विद्वेष से संभ्रांत परिवारों को बना रही निशाना: बंसीधर

0
2

पूर्व विधायक के परिजनों पर अशांति फैलाने का मामला राजनीति प्रेरित

पुलिस निष्पक्ष कार्रवाई के बजाय दबाव में कर रही काम

akhilesh dwivedi
सिंगरौली। कांग्रेस नेता बंसीधर पाठक ने जियावन पुलिस को राजनीतिक विद्वेष वश संभ्रांत परिवारों को दंगा भड़काने के आरोप का मामला दर्ज कर रही है। जिसमें एक पूर्व विधायक के परिजनों को निशाना बनाया गया है। उन्होंने मुख्यमंत्री, गृह मंत्री, कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से जियावन पुलिस की राजनीतिक प्रेरित कार्रवाई की जाँच कराने की मांग की है। बताया जाता है कि जियावन पुलिस द्वारा गत दिनों दो पक्षों के युवकों के बीच मारपीट हुई थी। जिसमें जियावन पुलिस द्वारा गुप्ता पक्ष के 23 और पाठक परिजनों की ओर से 25 लोगों पर दंगा फैलाने के संदेह में कार्यपालिक मजिस्ट्रेट देवसर न्यायालय में इस्तगासा पेश किया गया है। पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस नेता श्री पाठक ने कहा है कि यहा की पुलिस राजनीतिक विद्वेष पूर्वक कार्रवाई कर रही है। उन्होंने कहा कि जियावन थाना प्रभारी उन लोगों पर भी दंगा भड़काने की आशंका जताई है जो कभी भी सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश नही की है। साथ ही एक पूर्व विधायक के परिवार वालों को भी निशाना बनाया गया है। उन्होंने पुलिसिया कार्रवाई का विरोध करते हुए कहा कि थाना प्रभारी निष्पक्ष कार्रवाई के बदले पूरे गांव के लोगों को अपराधी बनाने पर आमादा है। जिससे समाज के बीच गहरी खाई बनती जा रही है। उन्होंने यह भी बताया कि कुछ लोगों की लड़ाई में पुलिस कई युवाओं को आपराधिक मामले में आशंकाओं बस फसा रही है। जिसमें कई युवाओं को नौकरी में भी दिक्कतें खड़ी हो सकती है। उन्होंने जियावन पुलिस की कार्रवाई को राजनीतिक प्रेरित बताते हुए मुख्यमंत्री और गृह मंत्री का ध्यानाकर्षण कराया है।
इनका कहना है
राजनीति प्रेरित कार्रवाई करने का आरोप निराधार लगाया जा रहा है, एहतियात बरतने के लिए दोनों पक्षों पर इस्तगासा दायर किया गया है। जिससे शान्ति व्यवस्था कायम रहे।