चुनाव आयोग सतर्क, कहीं हिंसक न हो जाए ग्वालियर-चंबल में उपचुनाव

0
3

चुनाव आयोग ने कानून-व्यवस्था को लेकर कलेक्टरों से मांगी रिपोर्ट

भोपाल। प्रदेश में विधानसभा उपुचनाव को लेकर राजनीतिक गतिविधियोंं के बीच दोनों दल के नेता एक-दूसरे के खिलाफ सड़क पर उतरते दिखाई दे रहे हैं। ग्वालियर में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर और कांग्रेसियों के बीच हुई झूमाझठकी हुई। इससे पहले ग्रामीणों न राज्यमंत्री गिर्राज दंडोडियों को गांव में जाने से रोका। इस तरह की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए ऐसी संभावना है कि ग्वालियर-चंबल में उपचुनाव हिंसक हो सकता है।

कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने वाले पूर्व विधायक उपचुनाव में फिर से भाजपा में संभावित उम्मीदवार हैं। ऐसे में वे फिर से जतना के बीच वोट मांगने जा रहे हैं। कांगे्रसी उनका विरोध करने हिंसा पर उतर आए हैं। बुधवार को ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का कांग्रेसियों ने विरोध किया। कांग्रेसियों को आरोप था कि मंत्री के कहने पर नगर निगम ने कांग्रेस नेताओं के होर्डिंग्स उतारे हैं। कांग्रेसी निगम अफसरों के सामने आपत्ति दर्ज कराने की वजाए मंत्री का विरोध करने पहुंच गए थे। मंत्री भी कार से उतरकर उनके बीच गए और कांग्रेसियों पर हाथ भी साफ किए। इस घटना के बाद भाजप प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने भी सख्त लहजे में कहा है कि भाजपा को भी मुंहतोड़ जवाब देना आता है। कांग्रेसियों के विरोध का ये तरीका सही नहीं है। शर्मा के बयान के बाद भाजपा खेमा भी कांग्रेसियों को जवाब देने को तैयार है। जबकि कांग्रेसियों का कहना है कि मंत्री गाड़ी से उतरकर खुद उनके बीच आए और कांग्रेस का झंडा फेंका और उन पर हाथ उठाए। खास बात यह है कि यह पूरा घटनाक्रम पुलिस की मौजूदगी में हुआ था।

चुनाव आयोग की रहेगी सख्ती
उपचुनाव वाले जिलों के 18 कलेक्टरों से आयोग ने कानून-व्यवस्था को लेकर रिपोर्ट मंाग ली है। संवेदनशील क्षेत्रों में आयोग उपचुनाव में ज्यादा फोर्स उतारेगा। ग्वालियर-चंबल के कलेक्टरों ने पैरामिलिट्री फोर्स उतारने की सिफारिश की है।

इनका भी हो चुका है विरोध
राज्यमंत्री गिर्राज दंडोतिया को ग्रामीणों ने गांव में नहीं घुसने दिया। पोहरी में भाजपा की सभा में सांसद ज्योरिादित्य सिंधिया का विरोध हुआ। ओबीस आरक्षण वालों ने नारेबाजी की। ग्वालियर प्रवास के दौरान सिंधिया विरोधियों का हुजुम उमड़ा, काले झंडे दिखाए। मंत्री ओपीएस भदौरिया एवं पूर्व विधायक रणवीर जाटव का उनके क्षेत्र में ही लोगों ने विरोध किया।

कमलनाथ दो दिन ग्वालियर में
कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ 18 एवं 19 सितंबर को दो दिन तक ग्वालियर-चंबल के प्रवास पर रहेंगे। वे इस दौरान कांग्रेस की सभाएं लेंगे और पार्टी नेताओं से मिलेंगे।