लेह पहुँचे आर्मी चीफ नरवणे, स्थिति का जायजा लेंगे

0
9

लेह, वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच आर्मी चीफ एम एम नरवणे आज अचानक दो दिवसीय लेह दौरे पर पहुंच गए हैं। बता दें कि दक्षिण पैंगोंग शो झील (Pangong Lake News) इलाके में चीन की नापाक हरकत को भारत के मुस्तैद जवानों ने असफल करते हुए उस इलाके की ऊंचाई वाले क्षेत्र में अपनी पैठ मजबूत कर ली है।

टॉप कमांडर बताएंगे जमीनी हालात
सेना सूत्रों के अनुसार टॉप कमांडर पूर्वी लद्दाख में मौजूदा स्थिति के बारे में आर्मी चीफ को बताएंगे। दो दिवसीय दौरे में जनरल नरवणे सेना के कई बड़े अधिकारियों से रणनीतिक हालात पर चर्चा कर सकते हैं। बता दें कि चीन और भारत के बीच कई दौर की सैन्य बातचीत के बाद भी स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है। कई इलाकों में दोनों देशों की सेनाएं एक-दूसरे के फायरिंग रेंज में हैं।

भारत ने ड्रैगन को दिया था करारा जवाब
बता दें कि मई में LAC पर चीन की हरकतों के बाद से ही भारत ने (India-China Tension) लेह से लेकर लद्दाख पर सैन्य तैयारियों को पुख्ता कर लिया है। 29-30 अगस्त की मध्य रात्रि में पैंगोंग शो झील के दक्षिण किनारे चीनी सेना घुसैठ की नापाक हरकत की थी, जिसे भारतीय जवानों ने नाकाम कर दिया था। यही नहीं, भारतीय जवान इस इलाके की कुछ ऊंचाई वाली चोटियों पर अपनी स्थिति मजबूत कर ली है।

चीनी सेना को खदेड़ने वाले जवानों से मिलेंगे नरवणे!
बताया जा रहा है कि आर्मी चीफ नरवणे दक्षिण पेंगोंग इलाके में चीन की हरकत की जानकारी लेंगे और चीनी जवानों को पीछे खदेड़ने वाले भारत के वीर जवानों से मुलाकात भी करेंगे। लेह में भारतीय सेना और वायुसेना पूरी तरह मुस्तैद है। वायुसेना के लड़ाकू विमान लगातार सीमाओं की निगहबानी कर रहे हैं।
नॉर्थ फिंगर 4

इस बीच भारत ने लद्दाख में पैंगोंग इलाके में नॉर्थ फिंगर 4 को फिर अपने कब्जे में ले लिया है. जून महीने के बाद पहली बार भारतीय सेना के कब्जे में ये इलाका पूरी तरह से आ गया है. अब यहां से सबसे निकट की चीनी पोस्ट फिंगर 4 के ईस्ट हिस्से में हैं, जो भारतीय सेना की पॉजिशन से कुछ मीटर की दूरी पर है.

चीन की साजिश नाकाम

बता दें कि 29-30 अगस्त को चीन ने लद्दाख के पैंगोंग लेक इलाके में घुसपैठ की कोशिश की थी, जिसे भारतीय जवानों ने नाकाम कर दिया. भारतीय सेना को 29 अगस्त की रात एलएसी की तरफ पैंगोंग लेक के दक्षिणी किनारे पर कुछ संदिग्ध गतिविधियों का पता चला. यह चीनी सैनिकों का काफिला था, जिसमें कई जीप और एसयूवी शामिल थे. इस इलाके में पहले से तैनात भारतीय सेना के जवानों ने तुरंत सक्रियता दिखाई और तेजी से पहाड़ी पर चढ़कर अपना मोर्चा संभाल लिया.

म्यांमार यात्रा स्थगित कर चुके हैं आर्मी चीफ
आर्मी चीफ ने चीन के साथ ताजा विवाद के बाद अपनी म्यांमार की होने वाली यात्रा को स्थगित कर दिया था। इसके ठीक बाद वह लेह दौरे पर पहुंचे हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि नरवणे LAC को लेकर सैन्य कमांडरों से बातचीत करेंगे।