यूपी के हाथरस जिले में गैंगरेप पीड़ित दलित लड़की की मौत के बाद तनाव, सफाईकर्मियों की हड़ताल

0
2

हाथरस
हाथरस की बेटी की गुपचुप रात के अंधेरे में अंतिम संस्कार पर लेकर विरोध हो रहा है और इस मामले में पुलिस सवालों के घेरे में है। विपक्षी दल राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार को घेर रही है और यूपी में जंगलराज का आरोप लगा रही है। उधर, पीएम नरेंद्र मोदी ने भी मामले का संज्ञान लेते हुए सीएम आदित्यनाथ से बात कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। योगी के मंत्री भूपेंद्र चौधरी जब हाथरस पहुंचे तो उन्हें स्थानीय लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा। दाह संस्कार के बाद सुबह दलित समुदाय के लोगों का गुस्सा भड़क उठा है। उधर, सफाई मजदूर संघ ने भी सफाई का काम बंद करने का ऐलान किया है।

हाथरस के तालाब चौराहे पर किशोरी की मौत के बाद पुलिस वालों पर जबरन दाह संस्कार कराने का आरोप है। इस मामले में विपक्ष ने योगी सरकार को निशाने पर लिया है। इस बीच घटना से आक्रोशित वाल्मीकि समाज के लोगों ने हाथरस में पुलिस पर पथराव किया है। पुलिस ने पत्थरबाजी कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया गया।

हाथरस में दलित समाज के लोगों ने शहर के अंदर बाजार को बंद करा दिया। सफाईकर्मियों ने काम बंद करते हुए हड़ताल शुरू कर दी है। वाल्मीकि समाज ने आक्रोशित होते हुए जमकर पत्थरबाजी की। इस दौरान बाइक में आग लगाने की कोशिश की गई। मौके पर पहुंचे पुलिस बल ने दलित समाज के लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया। गाथरस शहर के अंदर तनावपूर्ण माहौल बना हुआ।

दलित समाज का विरोध प्रदर्शन शुरू
हंगामे के दौरान लोगों ने दुकानों के शटर गिरा दिए। मृतका के परिवार को इंसाफ की मांग करते हुए दलित समाज ने विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाए गए। कोतवाली सदर इलाके के तालाब चौराहा सासनी गेट पर जमकर पथराव हुआ। पुलिस ने गुस्साई भीड़ पर लाठीचार्ज किया।