भारत—श्रीलंका वनडे सीरीज: पृथ्वी-शिखर ओपनिंग के होंगे प्रमुख दावेदार 

0
1

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम को जुलाई में श्रीलंका का सीमित ओवरों की सीरीज के लिए दौरा करना है। बीसीसीआई की ओर से हरी झंडी मिलते ही श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने दौरे का प्रस्तावित कार्यक्रम भेज दिया है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार दौरे की शुरुआत 13 जुलाई से तीन मैचों की वनडे सीरीज से होगी। अन्य दो मुकाबले 16 और 19 जुलाई को खेले जाएंगे, जबकि तीन टी20 मैच क्रमश: 22, 24 और 27 जुलाई को खेले जाएंगे। हालांकि अभी इन मैचों के स्थल अंतिम तौर पर तय नहीं किए गए हैं।

इस दौरे में कप्तान विराट कोहली, रोहित शर्मा, ऋषभ पंत, जसप्रीत बुमराह, रविंद्र जडेजा और लोकेश राहुल शामिल नहीं होंगे क्योंकि वे इस दौरान इंग्लैंड दौरे पर होंगे। ऐसे में श्रीलंका के खिलाफ सफेद गेंद के प्रारूपों की इस सीरीज में सलामी जोड़ी के लिए शिखर धवन और पृथ्वी शॉ की जोड़ी को आजमाए जाने की संभावना है। हालांकि संजू सैमसन भी दावेदारी पेश कर रहे हैं। आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स में शामिल पृथ्वी और शिखर का दाएं-बाएं हाथ के बल्लेबाजों का तालमेल अच्छा रहा है। चयनकर्ताओं की कोशिश आईपीएल की प्रतिभाओं को मौका देने की भी होगी। इनमें वो खिलाड़ी भी शामिल हैं जिन्होंने भारत ए टीम के जरिए राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में दिग्गज राहुल द्रविड़ से गुर सीखे हैं।

भुवी के पास फॉर्म-फिटनेस दिखाने का मौका
न्यूजीलैंड के खिलाफ अगले माह होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल और इंग्लैंड के साथ होने वाली पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और बल्लेबाज पृथ्वी शॉ दोनों की अनदेखी हुई थी। इस दौरे में दोनों के पास अपनी फिटनेस और क्षमता दोनों साबित करने का मौका होगा। इसी साल टी20 विश्व कप भी खेला जाना है। ऐसे में मैच अभ्यास फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

आईपीएल की प्रतिभाओं को मंच
बीसीसीआई के थिंकटैंक की योजना आईपीएल की प्रतिभाओं को आजमाने की भी है। आईपीएल-14 में पहला शतक जड़ने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन, दीपक चाहर, राहुल चाहर, जयदेव उनादकट, कुलदीप यादव, वरुण चक्रवर्ती, चेतन सकारिया और राहुल तेवतिया हैं। स्पिनर के रूप में चहल और कुलदीप के साथ राहुल चाहर और तेवतिया को आजमाया जा सकता है।

पांच जुलाई को पहुंचेगी टीम, 28 को वापसी

श्रीलंका दौरे के शुरुआती कार्यक्रम के अनुसार भारतीय टीम पांच जुलाई को श्रीलंका पहुंचेगी और 28 जुलाई को उसकी वापसी होगी। श्रीलंका पहुंचने के बाद उसे एक हफ्ते का एकांतवास गुजारना होगा। एकांतवास को दो चरणों में बांटा गया है। पहले चरण में तीन दिन सख्त प्रोटोकॉल होगा जिसमें खिलाड़ी होटल के कमरों तक सीमित रहेंगे। उसके बाद अगले चार दिन खिलाड़ी दिशा-निर्देशों के साथ अभ्यास कर सकेंगे। खिलाड़ियों की गतिविधियां होटल और मैदान तक ही सीमित रहेंगी। जैव सुरक्षाचक्र (बायो बबल) के कारण दर्शकों के इस सीरीज का हिस्सा होने की संभावना नहीं है। श्रीलंका टीम भारत के खिलाफ सीरीज से पहले 23 जून से 4 जुलाई तक इंग्लैंड का दौरा करेगी, जहां उसे तीन टी20 और तीन वनडे मैच खेलने हैं।