बलिया फायरिंग: सीएम योगी ने एसडीएम और सीओ को निलंबित करने का दिया आदेश

0
4

बलिया
यूपी के बलिया में सरकारी कोटे की दुकान को लेकर हुए विवाद में भाजपा नेता ने एसडीएम और सीओ के सामने एक युवक की गोली मारकर हत्‍या कर दी। यह घटना दुर्जनपुर गांव की बताई जा रही है। गोली चलते ही वहां भगदड़ मच गई। गोली लगने से घायल युवक को तत्‍काल अस्‍पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। मौके से अफसर समेत सभी लोग भाग निकले। भगदड़ का फायदा उठाकर आरोपी नेता धीरेंद्र सिंह भी फरार हो गया। उसके खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है। दिनदहाड़े हुई इस घटना से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। इस मामले में कड़ी कार्रवाई करते हुए सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने मौके पर मौजूद एसडीएम, सीओ और अन्‍य अधिकारियों को तत्‍काल प्रभाव से सस्‍पेंड करने का आदेश दे दिया है।

जानकारी के मुताबिक, गुरुवार को ग्राम सभा दुर्जनपुर और हनुमानगंज की कोटे की दो दुकानों के आवंटन के लिए पंचायत भवन पर खुली बैठक चल रही थी। इसमें बैरिया के एसडीएम, सीओ और बीडीओ भी मौजूद थे। ऐहतियात के तौर पर पर पुलिस फोर्स भी मौजूद थी। इन दो दुकानों के लिए कुछ स्वयं सहायता समूहों ने आवेदन किया था। दुर्जनपुर की दुकान के लिए विवाद के कारण दावेदारों के बीच मतदान करवा कोटा आवंटन करने का फैसला लिया गया। वोटिंग के लिए नियम रखा गया कि आधार अथवा अन्य कोई पहचान पत्र होगा होने की सूरत में ही व्यक्ति वोट कर सकेगााा। ।

धीरेंद्र और जयप्रकाश में चल रहा था विवाद
बताया जा रहा है कि एक पक्ष के पास आधार कार्ड और पहचान पत्र मौजूद था, लेकिन दूसरे पक्ष के पास कोई आईडी प्रूफ नहीं था। इसी मामले को लेकर दोनों पक्षों में बहस शुरू हो गई। दोनों तरफ के लोग लाठी-डंडे के साथ ही ईट-पत्थर लेकर एक-दूसरे पर पिल पड़े। इसी बीच भाजपा नेता धीरेंद्र प्रताप सिंह उफ डब्लू ने फायरिंग शुरू कर दी। गोली जयप्रकाश उर्फ गामा पाल नामक युवक को लगी, जिसकी बाद में मौत हो गई।

सूत्रों के अनुसार, दुर्जनपुर गांव में कोटे की दुकान को लेकर भाजपा नेता धीरेंद्र प्रताप सिंह और जयप्रकाश पाल के बीच विवाद चल रहा था। इस मामले में इलाके के एसडीएम और सीओ भी विवाद सुलझाने के लिए गांव की बैठक में पहुंचे थे। बलिया के एसपी देवेंद्र नाथ ने बताया कि दो पक्षों के बीच विवाद के बाद फायरिंग की घटना हुई जिसमें एक व्‍यक्ति की मौत हो गई है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।