नानी ही निकले मासूम के कातिल, लोकलाज के भय से कर दी थी हत्या

0
4

  भोपाल
  मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के अयोध्या नगर इलाके में दो दिन की बच्ची का शव मिला था. पुलिस ने इस मामले में बच्ची के नाना-नानी को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक इनकी बेटी एक लड़के से अवैध संबंध के बाद गर्भवती हो गई थी और बीते दिनों बच्ची को जन्म दिया था. कुंवारी बेटी ने बच्ची को जन्म दिया तो लोकलाज के डर से नाना-नानी ने ही उसकी हत्या कर दी.

पुलिस के मुताबिक, नाना-नानी ने रात के अंधेरे में 2 दिन की बच्ची को पहले चाकू से गोदा, ब्लेड मारा और जब बच्ची की मौत हो गई तो रात के अंधेरे में उसके शव को झाड़ियों में फेंक दिया. दरअसल, भोपाल के अयोध्या नगर इलाके में कुछ रोज़ पहले 2 दिन की बच्ची का शव झाड़ियों में पड़ा मिला था. बच्ची के शव पर घाव देख शुरुआती तौर पर पुलिस को लगा कि किसी जानवर ने बच्ची की जान ले ली होगी. लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में नुकीले औजार से चोट पहुंचाने की बात सामने आई.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची के शरीर पर नुकीले औजार से 80 से अधिक घाव पहुंचाए गए थे. इसके बाद जांच की दिशा ही बदल गई और पुलिस हत्या मानकर मामले की तहकीकात में जुट गई. पुलिस के सामने पहली बड़ी चुनौती थी बच्ची के माता-पिता को ढूंढने की. इसके लिए पुलिस ने शव मिलने के एक सप्ताह के अंदर जन्म लेने वाली बच्चियों के संबंध में अस्पतालों से जानकारी जुटाई और साथ ही घटना स्थल से 5 किलोमीटर की दूरी तक लगे सभी सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली.

जांच के दौरान घर में डिलिवरी कराने वाली दाई विद्याबाई और उसके पति पूरन सिंह के संबंध में जानकारी पुलिस के हाथ लगी. पुलिस ने पूरन सिंह अहिरवार और उसकी पत्नी से जब कड़ाई से पूछताछ की तो मामले का खुलासा हो गया. पुलिस के मुताबिक दोनों ने जुर्म कबूल कर लिया और बताया कि उनकी बेटी एक युवक से अवैध संबंध बनाने के बाद जनवरी में गर्भवती हो गई थी. बेटी और परिवार की बदनामी न हो, इसलिये गर्भवती बेटी की डिलिवरी मां विद्याबाई ने घर पर ही कराई. पुलिस ने घटना में प्रयुक्त चाकू और ब्लेड जब्त कर लिया है.