… तो क्या सुशांत सिंह राजपूत को पता चल गया था दिशा की मौत का सच ? छह दिन की जांच में पटना पुलिस को मिले कई अहम सुराग

0
1

पटना
बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में छह दिन से मुंबई में जांच कर रही पटना पुलिस को अब तक कई अहम सुराग मिले हैं। एसआईटी उन कड़ियों को ढूंढ़ने में जुटी है, जिन हकीकतों पर शुरू से मुंबई पुलिस पर्दा डाल रही है। सूत्रों की मानें तो एसआईटी को यह भी पता चला है कि पूर्व सेक्रेटरी दिशा की मौत का सच सुशांत को पता चल चुका था। मौत से पहले दिशा ने सुशांत को फोन करके कुछ बता दिया था। कहीं इसे वह उगल न दें, शायद इसके डर से शातिर उनके शार्गिदों द्वारा सुशांत को डराया-धमकाया जा रहा था। सूत्र यह भी बताते हैं कि सुशांत के रूम पार्टनर सिद्धार्थ पिठानी को इन सब अहम राजों के बारे में बहुत कुछ पता है। शायद इसलिए एसआईटी सिद्धार्थ पिठानी के बयान को दर्ज करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।

फुटेज भी लगा दिया ठिकाने
बताया यह भी जा रहा है कि सोची समझी साजिश के तहत घटना के बाद बांद्रा सोसाइटी समेत सुशांत के फ्लैट में लगे सीसीटीवी कैमरे का फुटेज मुंबई पुलिस व साजिशकर्ताओं ने अपने कब्जे में ले लिया। शायद यही वजह है कि पटना एसआईटी को अब तक फुटेज समेत अन्य इलेक्ट्रोनिक्स सबूत नहीं मिल सके हैं। इसकी पुष्टि बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने खुद की है।

पोस्टमार्टम पर भी उठ रहे सवाल
जांच के चलते परत-दर-परत कलई खुलकर सामने आ रही है। अब सुशांत सिंह के पोस्टमार्टम पर भी सवाल खड़े किये जा रहे हैं। सीबीआई जांच की मांग करने वाले तमाम लोगों का कहना है कि नियमत पोस्टमार्टम के लिए सुबह 6 से शाम 6 बजे तक का ही समय निर्धारित है। विशेष परिस्थिति में मजिस्ट्रेट के आदेश पर ही रात में पोस्टमार्टम किया जाता है। मगर बांद्रा पुलिस ने इसकी परवाह किए बिना सुशांत के शव का पोस्टमार्टम रात में एक घंटे के बीच करा दिया।  

सुशांत के करीबी सिद्धार्थ व दीपेश से होगी पूछताछ
पटना पुलिस की एसआईटी ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के सबसे करीबी व रूम पार्टनर रहे सिद्धार्थ पिठानी व फ्लैट में ही रहने वाले दीपेश पर शिकंजा कसना तेज कर दिया गया है। एसआईटी ने पूछताछ के लिए दोनों को नोटिस भेजा है। पटना से सिटी एसपी विनय तिवारी के मुंबई पहुंचने के बाद दोनों को रडार पर रखा गया है। आईजी रेंज संजय सिंह ने बताया कि 160 सीआरपीसी के तहत बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस भेजा गया है। इन दोनों को सोमवार को एसआईटी के समक्ष पेश होकर अपना बयान दर्ज कराने को कहा गया है। उधर, एसआईटी सुशांत की मैनेजर दिशा सालियान की मौत के पीछे कड़ियों की भी पड़ताल कर रही है। दिशा की मौत का कनेक्शन सुशांत की मौत से किस तरह जुड़ा है। यह जानने के लिए जब एसआईटी ने मुंबई पुलिस से दिशा की मौत के मामले से जुड़ी फाइल मांगी तो मुंबई पुलिस ने फाइल लैपटॉप से डिलिट होने की बात कही। इस बारे में आईजी रेंज संजय सिंह ने बताया कि दिशा की मौत से जुड़ी फाइलें एसआईटी ने मांगी है। दिशा की फाइल डिलिट हुई है या इसके पीछे मुंबई पुलिस का बड़ा खेल है, यह तो वहीं के पुलिस अधिकारी जानते हैं। 

…तो एंबुलेंस चालक बोल रहा झूठ
सुशांत के शव को एंबुलेंस से ले जाने वाला चालक अक्षय कुमार का बयान गले से नीचे नहीं उतर रहा है। एक चैनल को दिए गए एंबुलेंस चालक के बयान को पुलिस के दबाव में होना कहा जा रहा है। बयान में चालक ने कहा कि उसने ही सीलिंग से लटक रहे सुशांत के शव को नीचे उतारा और एंबुलेंस में डालकर ले गया, लेकिन यह बात शक के दायरे में है।