गिलोय के सेवन के फायदे और कुछ नुकसान भी हैं

0
104

आयुर्वेद के जानकार सदियों से ऐसी जड़ी-बूटियों के बारे में बताते आ रहे हैं, जो आपको सेहतमंद बनाए रखने के अलावा आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बेहतर करती हैं। ऐसी ही एक जड़ी-बूटी है- गिलोय। गिलोय को संस्कृत में अमृता के नाम से भी जाना जाता है। जाहिर है इसका कारण भी गिलोय के फायदे ही होंगे। इसके अलावा वैज्ञानिक इसे टिनोस्पोरा कार्डिफोलिया के नाम से जानते हैं।

गिलोय के फायदों को अगर विशेषज्ञ की नजरिए से देखें तो उनके मुताबिक यह 100 समस्याओं की एक दवा है। गिलोय के सेवन से आपकी पाचन शक्ति, फेफड़ों की कार्यक्षमता तो बेहतर होती ही है, साथ ही इससे आपका इम्यून सिस्टम भी मजबूत बनता है। यही कारण है कि साल 2020 में कोरोना के दौरान गिलोय ने अच्छी खासी लोकप्रियता हासिल कर ली। लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैं जिनके बारे में लोग नहीं जानते।

गिलोय के फायदों को लेकर ना केवल आयुर्वेद बल्कि विज्ञान भी इसकी गाथा गाता हुआ दिखाई दे रहा है। हाल ही में यूएस फूड एंड ड्रग विभाग ने भी गिलोय के सेवन करने की सलाह दी थी। आयुर्वेदिक विशेषज्ञ गिलोय के तने और जड़ों के इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। जबकि बाजार में गिलोय कैप्सूल, जूस और पाउडर के रूप में मौजूद है। आप इनमें से किसी का भी सेवन विशेषज्ञ की सलाह पर कर सकते हैं। लेकिन इसके कुछ ऐसे नुकसान हैं जिन्हें जान लेना आपके लिए बेहद जरूरी है।

गिलोय मधुमेह के मरीजों के लिए नुकसानदायक हो सकती है। दरअसल, गिलोय खून में मौजूद शुगर लेवल को कम करने का काम करती है। ऐसे में अगर आपको मधुमेह की समस्या है, तो यह आपके रक्त में शुगर को बहुत ज्यादा नीचे पहुंचा सकती है। इस स्थिति को हाइपोग्लाइकेमिया कहा जाता है। इसलिए डॉक्टर या आयुर्वेद विशेषज्ञ की सलाह पर गिलोय का सेवन करें।

गिलोय को यूं तो पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए सबसे जबरदस्त माना जाता है। लेकिन कई मामलों में यह कब्ज की समस्या पैदा कर सकता है। ऐसे में अगर आप गिलोय का सेवन करते हैं, और आपको मल से संबंधित या अन्य किसी प्रकार की समस्या होने लगे। तब आप डॉक्टर को जरूर बताएं।

गिलोय के सेवन से इम्यून सिस्टम बेहतर होता है। लेकिन कई बार यह आपके इम्यून सिस्टम को प्रभावित कर आपके लिए अनेक स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं खड़ी कर सकता है। इसलिए गिलोय के सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले।

गर्भावस्था के दौरान यह नुकसानदायक है या नहीं। यह अब तक पता नहीं चला है। लेकिन डॉक्टर और विशेषज्ञ गर्भावस्था के दौरान इसके सेवन से बचने की सलाह देते दिखाई देते हैं।

सर्जरी कराने से पहले गिलोय का सेवन खतरनाक हो सकता है। दरअसल सर्जरी के दौरान यह जरूरी है कि आपका ब्लड प्रेशर संतुलित रहे। लेकिन गिलोय आपके ब्लड प्रेशर को प्रभावित कर सकता है। इसलिए सर्जरी से पहले इसका सेवन बंद कर दें। इसके अलावा डॉक्टर की सलाह पर ही इसे फिर से शुरू करें।

गिलोय के सेवन करने वाले अक्सर इसकी तय मात्रा को लेकर थोड़े चिंतित रहते हैं। हालांकि कैप्सूल और पाउडर के पैकेट या बॉक्स पर आपको तय मात्रा दी गई होती है। लेकिन अगर आप असल मायने में गिलोय का सेवन करना चाहते हैं तो केवल डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें।