खरगोन में नाबालिग का अपहरण कर तीन बदमाशों ने किया सामूहिक दुष्कर्म

0
5

खेत की टापरी में पानी फिर शराब मांगने घुसे थे बदमाश

ज्यादती के बाद लात-घूसों से मारपीट की, गला दबाया

कांग्रेस बोली- शिवराजजी, यही राक्षसराज वापस लाने के लिए विधायक खरीदे थे?

कमलनाथ बोले -शिवराज सरकार कब नींद से जागेगी और ऐसी घटनाओं पर रोक लगेगी?

खरगौन। उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई दुराचार की वारदात के बाद से देशभर में आक्रोश है, इस बीच मध्यप्रदेश के खरगौन जिले में भी ऐसा ही मामला सामने आया है। यहां 15 साल की किशोरी का अपहरण कर तीन लोगों ने दुष्कर्म किया है। किशोरी को जान से भी मारने की धमकी दी गई। इतना ही नहीं विरोध करने पर दरिंदों ने पीडि़ता के भाई के साथ भी जमकर मारपीट की और फरार हो गए। घटना के बाद यहां भी आक्रोश है। इधर, कांग्रेस ने शिवराज सरकार पर तंज कसते हुए कहा है कि क्या इसी राक्षस राज लाने के लिए विधायकों को खरीदा था।

खरगोन जिला मुख्यालय से 60 किमी दूर झिरन्या के मारुगढ़ गांव में तीन लड़कों ने 15 साल की लड़की को अगवा कर गैंगरेप करने की घटना को अंजाम दिया है। पीडि़ता को जान से मारने की धमकी दी गई। घटना के दौरान घर में मौजूद पीडि़ता के बड़े भाई के साथ भी आरोपियों ने जमकर मारपीट की और जल्दबाजी में बाइक छोड़कर भाग निकले। इस घटना के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस ने सरकार पर सवाल उठाए हैं।

कांग्रेस ने लगाए कई आरोप
कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा- खरगोन में यूपी जैसी घटना, मध्यप्रदेश के खरगोन में 15 वर्षीय नाबालिग के साथ तीन अज्ञात बदमाशों ने दुष्कर्म किया और लड़की के भाई से मारपीट की। शिवराज जी, यही राक्षसराज वापस लाने के लिये विधायक खरीदे थे..? वहीं कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि खरगोन में मासूम बेटी के साथ दरिंदगी की घटना, सीहोर में फिर एक किसान की खुदकुशी की घटना, भोपाल में युवा की रोजगार ना मिलने पर खुदकुशी की घटना इसके प्रत्यक्ष उदाहरण है। पता नहीं शिवराज सरकार कब नींद से जागेगी और ऐसी घटनाओं पर रोक लगेगी?

यह है घटनाक्रम
घटना मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात की है। तीनों आरोपियों ने 15 साल की किशोरी को अगवाकर 200 मीटर दूर खेत में ले जाकर गैंगरेप किया और जान से मारने की धमकी दी। घटना के दौरान घर में मौजूद बड़े भाई के साथ आरोपियों ने जमकर मारपीट की। भाई ने फोन पर परिजन और पुलिस को सूचना दी। घटना के कुछ देर के बाद तीन आरोपी भी दिखे। वह बाइक लेने आए थे, लेकिन बाइक चालू नहीं हुई तो उसे छोड़कर भाग गए। उनकी उम्र 20-30 साल के बीच है। पुलिस को शक है कि वे क्षेत्र के होकर इंदौर आने-जाने वाले हो सकते हैं। जानकारी के मुताबिक युवक (19) और छोटी बहन (15) के साथ खेत में टापरी बनाकर एक साल से मजदूरी कर रहे थे।

पीडि़ता का मुंह कपड़े से बांध दिया था
रात करीब 3 बजे परिजन पीडि़ता को लेकर गांव पहुंचे। यहां पीडि़ता रोती रही। सुबह करीब 6 बजे पीडि़ता की मां पहुंची तो उसने घटनाक्रम बताया। दो घंटे के बाद पुलिस को शिकायत की। पीडि़ता ने बताया कि तीनों ने मुंह पर कपड़ा बांधा था। इसमें दो युवक आदिवासी बोली में बात कर रहे थे। जबकि एक हिंदी व निमाड़ी बोल रहा था। मेरा मुंह कपड़े से बांध दिया था। ताकि में चिल्ला न सकूं। ज्यादती के बाद मुझे गाली-गलौच करते हुए खूब लात-घूंसों से मारपीट की। मेरा गला दबा रहे थे। मुझे लगा अब नहीं बच सकेंगे। इसके बाद मुझे छोड़कर भाग गए।

भाई को लकडिय़ों से पीटा
पीडि़ता के भाई ने बताया रात 1 बजे तीन लोग आए और भाई से पीने के लिए पानी मांगा। इसके बाद वे चले गए। 10 मिनट के बाद दोबारा आए। इस बार शराब मांगी। इंकार किया तो मारपीट शुरू कर दी। दो बदमाश बहन को उठाकर खेतों की ओर ले जाने लगे। मैंने विरोध किया तो मुझे लकडिय़ों से मारा। किसी तरह उनसे छूटकर गांव की तरफ भागा। खेत मालिक व बामनपुरी में परिजनों को मोबाइल से सूचना दी। इसके बाद बाइक लेकर 5 परिजन पहुंचे। परिजन ढूंढते हुए आईटीआई कॉलेज की ओर पहुंचे। यहां रास्ते में बहन घायल मिली। वे आसपास दिखे तो परिजनों ने तीनों का पीछा किया, लेकिन वह नहीं मिले। आरोपियों ने पीडि़ता के भाई को लकडिय़ों से पीटा। उसकी जांघों में सूजन आ गया। पीठ पर लकड़ी के निशान है।

तीन माह पहले इंदौर से चुराई थी बाइक
आरोपी जिस बाइक से आए थे वह 3 माह पहले ही इंदौर से चोरी हुई है। पुलिस ने बाइक को आसपास के लोगों से तस्दीक कराई। ताकि घटना की जानकारी मिल सके। किसी ने बाइक के बारे में जानकारी नहीं मिली। ग्रामीणों के अनुसार पीडि़ता के 5 भाई है। वह 5वीं तक पढ़ाई करने के बाद भाई के साथ खेत पर ही रहती थी। घटनास्थल से 200 मीटर दूर आईटीआई कॉलेज और पास में निर्माणाधीन कन्या परिसर भी है। एसपी शैलेंद्र चौहान के अनुसार इंदौर में बाइक के फुटेज की जांच कर रहे हैं। आरोपी क्षेत्र के हो सकते हैं, जिनका इंदौर आना-जाना हो। पीडि़ता का मेडिकल कराकर अपहरण व गैंगरेप का केस दर्ज किया है। जल्द आरोपी पकड़े जाएंगे।