सक्रिय मरीजों के मुकाबले साढ़े तीन गुना है कोरोना को मात देने वालों की संख्या

0
5

नई दिल्ली, कोरोना वायरस के मामले देश में जितनी तेजी से बढ़ रहे हैं, तकरीबन उसी रफ्तार से बीमारी को मात देने वालों की संख्या भी बढ़ रही है। केंद्र सरकार ने गुरुवार को बताया कि अभी तक 29 लाख से ज्यादा मरीज कोरोना से ठीक हो चुके हैं। यह संख्या सक्रिय मरीजों के मुकाबले साढ़े तीन गुना है। स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘अभी तक 29.70 लाख मरीज रिकवर हो चुके हैं, जोकि सक्रिय मामलों का 3.5 गुना है। अब तक हमने देश में 4 करोड़ 50 लाख से ज्यादा टेस्ट किए हैं। पिछले 24 घंटों में 11,72,000 टेस्ट किए गए हैं।’ कोरोना वायरस के कुल सक्रिय मामलों में से 62 फीसदी मरीज पांच राज्यों से हैं। ये पांच राज्य- तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र हैं। राजेश भूषण ने कहा कि कुल मृतकों में से आंध्र प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, तमिलनाडु और महाराष्ट्र में 70 फीसदी मौतें हुई हैं।

एक सप्ताह में आंध्र प्रदेश में 4.5 फीसदी मरने वालों की संख्या में कमी आई है, जबकि महाराष्ट्र में 11.5 फीसदी और तमिलनाडु में 18.2 फीसदी की कमी देखी गई है। इसके अलावा, पिछले तीन हफ्तों में महाराष्ट्र में सक्रिय मामलों में सात फीसदी की कमी आई है।

रोजाना बढ़ते मामलों पर क्या बोला मंत्रालय?

देश में रोजाना बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि रोजाना पॉजिटिव संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। इसे कुल जनसंख्या के हिसाब से देखा जाना चाहिए। सरकार ने इकॉनमी को फिर से खोला है। टेस्टिंग की रफ्तार बढ़ाई गई है, अस्पतालों के बुनियादी ढांचे को बेहतर करने के अलावा, ट्रीटमेंट संबंधी प्रोटोकॉल जारी किए गए हैं। वहीं, सचिव राजेश भूषण ने कहा कि यदि लोग समूह में साइकलिंग और रनिंग कर रहे हैं तो फिर उन्हें हर-हाल में मास्क पहनना चाहिए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए।

प्रति दस लाख पर कोरोना मामले कम

सरकार ने बताया कि अन्य देशों की तुलना में भारत में प्रति दस लाख की जनसंख्या में कोरोना वायरस के मामले काफी कम हैं। वहीं, प्रति दस लाख में मृत्युदर भी अन्य देशों के मुकाबले सबसे कम है। हर दस लाख में 49 लोगों की मौत संक्रमण के चलते हुई है। इसके अलावा, आईसीएमआर के डीजी डॉ. बलराम भार्गव ने कहा कि देश के 70 जिलों में दूसरे सीरो सर्वे की शुरुआत हो चुकी है। आने वाले दो सप्ताह में इसके नतीजे भी सामने आ जाएंगे।