प्रदेश के इतिहास में दूसरी बार विद्यार्थियों मिला को जनरल प्रमोशन

0
94

मध्य प्रदेश में प्रदेश सरकार ने छात्रों के लिए लिया फैसला

एक से 8वीं तक के छात्रों को मिलेगा अगली कक्षा में प्रवेश

भोपाल, देशभर में तेजी से फैल रहा कोरोना वायरस के कहर ने अपनी पकड़ सभी देशों में बना ली है। इस बुरे असर से देश को बचाने के लिए पूरे देश में लॉक डाउन की स्थिति बनी है। ऐसी स्थिति में स्कूल और कॉलेज भी पूरी तरह बंद हैं। जिसके चलते स्कूल के बच्चों के रिजल्ट भी रुक गए हंै। ऐसी हालत में मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार का बड़ा फैसला लिया है। प्रदेश में कक्षा पहली से आठवीं तक के विधार्थियों को जरनल प्रमोशन दिया है। सभी छात्र-छात्राओं को जनरल प्रमोशन देते हुए अगली कक्षा में प्रवेश देने के आदेश दिए हैं। यह आदेश सरकारी और निजी स्कूलों में लागू होंगे। शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2003 की धारा 16 के प्रावधान के अनुरूप यह प्रावधान किया गया है। गौरतलब है कि कोरोना के बढ़ते कहर के चलते कुछ कक्षाओं की परीक्षाएं नहीं हो सकी हैं। इस कारण सरकार ने बच्चों को जरनल प्रोमोशन दिया है। प्रदेश में दूसरी बार जनरल प्रमोशन का फैसला लिया गया है। इस से पहले गैसकांड के बाद सरकार ने ये फैसला लिया था। वहीं दूसरी तरफ 10वीं और 12वीं के जनरल प्रमोशन पर भी विचार चल रहा था, लेकिन एमपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं के छात्रों के आने वाले भविष्य में इस विचार से परेशानी आ सकती है, इसलिए उम्मीद जताई जा रही है कि 14 अप्रैल के बाद एमपी बोर्ड नई तारीखों का ऐलान करेगा।

इधर 10 वीं के छात्रों को भी प्रमोशन पर विचार
इधर, आगामी हालातों को देखते हुए सरकार 10वीं के छात्राें को भी जनरल प्रमोशन देने पर विचार कर रही है। लेकिन, हायर सेकंडरी में ऐसा नहीं किया जाएगा क्योंकि 12वीं के अंकों के आधार पर कॉलेजों में दाखिला दिया जाता है।ऐसे में आने वाले भविष्य में छात्रों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।