गांजा तस्करी की श्रृंखला तोडने में पुलिस को मिली सफलता

0
3

साढे 11 किलो गांजे के साथ दो आरोपी और एक तस्कर गिरफ्तार

rafi ahmad ansari
बालाघाट। जिले के मादक पदार्थो का व्यापार अब आसमान छू रहा है। आये दिन गांजा जैसे मादक पदार्थ के तस्करी होने की खबर मिलते रहती है। लॉकडाउन के दौरान भी वाहन चेंकिग करते समय कोतवाली पुलिस ने गांजा पकडने में सफलता हालिस की थी। जहां हरियाणा की एक महिला और उसका पति गांजा तस्करी के अपराध में गिरफ्तार किये गये थे। उस दौरान ही अनुमान लगाया जा चुका था कि गांजा तस्करो का अन्य कई राज्यो के अलावा बालाघाट जिले से भी कनेक्शन जुडा हुआ है। उस कार्यवाही के बाद एक बार फिर कोतवाली पुलिस ने गांजा तस्करी में लिप्त तीन आरोपीयों को गिरफ्तार किया है। जहां पुलिस ने बालाघाट के दो आरोपीयों के पास से साढे 11 किलो गांजा भी बरामद किया है, जिसका प्रेसवार्ता लेकर खुलासा किया है।

नगर पुलिस अधीक्षक कर्णिक श्रीवास्तव ने मामले के संदर्भ में जानकारी देते हुए बताया कि कोतवाली पुलिस को मुखबीर से गांजा तस्करी होने की सुचना मिली थी। जहां वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में कोतवाली पुलिस की एक टीम गठित की गई और कार्यवाही करते हुए साढे 11 किलो 500 गा्रम गांजा बरामद करने में सफलता प्राप्त की है। वही उक्त गांजे के साथ 2 आरोपी और एक तस्कर को भी गिरफ्तार किया है, जिसमे 2 आरोपी बालाघाट और 01 आरोपी गोंदिया निवासी है। जिनसे पूछताछ में गांजा तस्करी के गिरोह का पर्दाफाश हो सकता है और पुलिस, गांजा तस्करी की चैन तोडने में सफल हो सकती है।
पुलिस ने इस मामले के संदर्भ में जानकारी देते हुए बताया कि शहर में मादक पदार्थ गांजा से आमजन में नशे की लत बढती जा रही है। जिसे गंभीरता से लेते हुए वरिष्ठ अधिकारियों ने शहर में गांजा के क्रय विक्रय में लिप्त लोगों की धरपकड़ हेतु निर्देश दिये, जहां कोतवाली पुलिस की टीम गठित की गई। इस दौरान 22 सितंबर को मुखबिर की सूचना मिली कि वार्ड नंबर 10 मटन मार्केट बालाघाट निवासी फिरोज खान पिता मेहताब खान के घर से गांजा प्राप्त हो सकता है। जहां सुचना पर पुलिस ने उक्त संदिग्ध के घर में दबिश देकर उसके कब्जे से 6 किलो गांजा बरामद किया गया। जिसकी किमत लगभग 60 हजार रूपयें आंकी गई है। वही अन्य सुचना पर वार्ड नंबर 10 निवासी कमलेश बर्वे पिता बुधराम बर्वे के घर पर भी दबिश देकर आरोपी के कब्जे से 5 किलो 500 ग्राम गांजा बरामद किया गया जिसकी कीमत 55 हजार रूपयें बताई जा रही है। इस तरह पुलिस ने दोनो आरोपियों के पास से लगभग 1.15 लाख रूपये कीमत का 11 किलो 500 ग्राम गांजा जप्त किया और उनके विरूद्ध कार्यवाही करते हुए अपराध क्रमांक 608/2020 व 609/2020 धारा 8,20 एनडीपीएस के तहत मामला पंजीबद्ध कर जाचं विवेचना में लिया। जहां पुलिस ने आरोपी फिरोज खान से गांजा के संदर्भ में पूछताछ की गई तो उसने गोविंद अग्रवाल पिता रामलाल अग्रवाल बसंत नगर गोंदिया जिला निवासी से गांजा खरीद कर लाना तथा बालाघाट में बेचना बताया। जहां पुलिस ने आरोपी के मेमोंरेडम के आधार पर गोंदिया निवासी गोविंद अग्रवाल को भी गिरफ्तार किया। जहां पुलिस ने उक्त तीनो आरोपियों को न्यायालय में पेश कर अग्रीम पूछताछ कार्यवाही हेतू रिमांड पर लेने की बात कही है। पूछताछ में खुलासा हुआ कि बालाघाट के ये दोनों आरोपी, गोंदिया निवासी आरोपी गोविंद अग्रवाल के पास से गांजा खरीद कर लाते थे और यहां के छोटे विक्रयकर्ताओ को सप्लाई किया करते थे। लेकिन पुलिस ने उक्त गांजा सप्लाई करने से पहले ही आरोपीयों को दबोच लिया। जहां गांजा तस्करी की इस श्रृंखला को तोडने में कोतवाली पुलिस ने एक बडी सफलता हासिल की है।