चलित प्रर्दशनी के माध्यम से दिया गया पोषण जागरुकता का संदेश

0
3
nutrition-awareness-message-given-through-mobile-display

चलित प्रर्दशनी के माध्यम से दिया गया पोषण जागरुकता का संदेश

राष्ट्रीय पोषण माह में चलाया जा रहा है प्रचार अभियान

nutrition-awareness-message-given-through-mobile-display

Syed Javed Ali

मण्डला (24 सितम्बर 2020) – राष्ट्रीय पोषण माह में चलाये जा रहे प्रचार अभियान के अंर्तगत सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार के क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो मंडला द्वारा चलित आटो रिक्शा से बैनर एवं मेगा साउण्ड के माध्यम से पोषण, स्तनपान का महत्व, टीकाकरण, किशारी गर्भवती, धात्री महिलाओं के लिए पोषण आहार क्यों जरुरी है। एनीमीया को दूर करने के लिए पोषण के महत्व, पोषण के आवश्यक तत्व आदि के बारे में आधारित प्रचार पम्पलेट वितरित किया गया एवं बैनर चस्पा किये गए। पोषक पदार्थ की जानकारी दी गई, रोग प्रतिरोधक क्षमता पढाने के लिए पोषण का महत्व शहरी एवं ग्रामीण मेें पहुचाया गया एवं मौखिक संदेश आटो रिक्शा में प्रदर्शनी लगाकर पोषण के प्रति जागरुक किया गया। चलित प्रदर्शनी में प्रचार के माध्यम से समझाया गया की नवजात को जन्म के तुरन्त बाद मां का दूध ही पिलाएं। किशोरियों एवं गर्भवती महिलाओं को हरे पत्तेदार सब्जियां ज्यादा से ज्यादा खिलाकर हम प्रोटीन कार्बाहाइड्रेट विटामिन प्राप्त कर सकते हैं। गर्भवती महिला का समय समय पर वजन कर देखभाल करें। जागरुकता अभियान के माध्यम से पोषण रथ महाराजपुर, पौंड़ी, पेटेगांव, गौझीमाल, प्रेमपुर, मोहनटोला, देवदरा, नांदिया आदि ग्रामों में चलित प्रर्दशनी से लोगो को मौखिक संदेश दिया गया। प्रभारी अजय बैस ने चित्र प्रर्दशनी के माध्यम से मौखिक संदेश से पोषण के महत्व को समझाया।