स्वाद के साथ साथ 6 बीमारियों को दूर भगाता है गुलकंद

0
36

गुलकंद एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जो हम अपने घर पर भी तैयार कर सकते हैं। गुलाब की पत्तियों से तैयार किए जाने वाले गुलकंद को कई लोगों के द्वारा नियमित रूप से खाने में इस्तेमाल किया जाता है। स्वाद में बेहद लजीज होने के साथ-साथ इसकी खुशबू भी आपको बहुत अच्छा एहसास दिलाती है। गर्मियों में इसका सेवन करना काफी लाभदायक माना जाता है क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है। आइए जानते हैं कि गुलकंद के सेवन करने से किन-किन से रोगों का खतरा काफी हद तक कम हो सकता है।

​आंखों के लिए
आंखों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए गुलकंद हमारे लिए काफी लाभदायक असर दिखा सकता है। वैज्ञानिक अध्ययन में भी इस बात की पुष्टि हुई है कि गुलकंद का सेवन करने से आंखों की रोशनी को बढ़ाने में मदद मिलती है। यह हमें अन्य नेत्र रोगों से भी बचाए रखने के लिए मदद करता है। दूध में मौजूद विटामिन-ए की मात्रा के कारण दूध के साथ इसका सेवन करने से प्रभावी रूप में इसका फायदा मिलता है।

​अल्सर को ठीक करे
अल्सर की समस्या का घरेलू उपचार भी किया जा सकता है और इसे ठीक करने में ज्यादा समय भी नहीं लगता है। अल्सर की समस्या आमतौर पर पेट के ठीक तरीके से साफ न होने की वजह से पैदा हो जाती है। गुलकंद में विटामिन-बी ग्रुप के लगभग ज्यादातर विटामिंस पाए जाते हैं। अल्सर की समस्या को ठीक करने के लिए विटामिन-बी ग्रुप वैज्ञानिक रूप से भी कारगर माना गया है। इसलिए घरेलू उपचार के रूप में गुलकंद का सेवन मुंह के छालों की समस्या को ठीक कर सकता है।

मोमोरी पॉवर बूस्ट करे
मेमोरी को बूस्ट करने के लिए कई प्रकार के खाद्य पदार्थों को खाने की सलाह दी जाती है जबकि दूध और गुलकंद का मिश्रण भी आपको काफी फायदा पहुंचा सकता है। गुलकंद में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा याददाश्त बढ़ाने के लिए सकारात्मक रूप से अपना प्रभाव दिखाती है। इसकी तासीर ठंडी होने के कारण यह आपके दिमाग को शांत रखने में भी मदद करता है।

​वजन घटाने के लिए
मोटापे से जूझ रहे लोग तरह-तरह के खाद्य पदार्थ को अपनी डायट में शामिल करते हैं। मोटापे के कारण कुछ कैंसर और टाइप टू डायबिटीज का खतरा भी बढ़ जाता है। इस समस्या से बचे रहने के लिए मोटापे को कम करना बहुत जरूरी होता है जिसके लिए आप गुलकंद का सेवन कर सकते हैं। के अनुसार वजन घटाने के लिए गुलकंद का सेवन सकारात्मक रूप से असर दिखाता है।

कब्ज की समस्या से राहत दिलाने में मददगार
पेट का स्वास्थ्य ठीक नहीं है तो यह कई बीमारियों की वजह बन सकता है। कब्ज की समस्या भी पेट से जुड़ी हुई है जो पाचन क्रिया के ठीक तरीके से ना होने के कारण लोगों को परेशान करती है। कब्ज को ठीक करने के लिए मैग्नीशियम पोषक तत्व की भी जरूरत होती है जो गुलकंद में पाया जाता है। कब्ज की समस्या से बचे रहने के लिए दूध के साथ आप भी गुलकंद का सेवन कर सकते हैं।

स्ट्रेस दूर करने के लिए
स्ट्रेस की समस्या हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी नुकसान पहुंचाती है और हम कई प्रकार की संक्रामक बीमारियों की चपेट में भी आसानी से आ जाते हैं। हालांकि, इस समस्या से बचे रहने के लिए गुलकंद में एंटीऑक्सीडेंट का विशेष प्रभाव लाभदायक असर दिखा सकता है। एक शोध के अनुसार एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा का सेवन करने से स्ट्रेस को कम करने में काफी मदद मिलती है। रात में दूध के साथ गुलकंद का सेवन करने से और भी फायदा मिल सकता है।