जेडीयू में शामिल हुए बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय

0
7

पटना, बिहार के पूर्व डीजीपी और हाल ही में स्वेच्छा से रिटायरमेंट लेने वाले गुप्तेश्वर पांडेय आज जेडीयू में शामिल हो गए। डीपीजी ने रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास पर उनकी मौजदूगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। जेडीयू में शामिल होने के बाद गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि नीतीश कुमार हमारे नेता हैं, उनके और पार्टी की तरफ से जो आदेश मिलेगा उसका पालन करूंगा।

पूर्व डीजीपी ने कहा कि पार्टी जो भी हमसे कहेगी वह करूंगा। अगर चुनाव लड़ने के लिए कहेगी तो चुनाव लड़ूंगा। बिहार के हर जिले से लोग फोन करते हैं कि आप हमारे यहां से चुनाव लड़ लीजिए। गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि, “मैं दिल का साफ आदमी हूं। मुझे तो अभी पता भी नहीं है कि राजनीति क्या होती है। जो भी हमारे नेता का आदेश होगा उसका पालन होगा।”

शनिवार को पूर्व डीजीपी ने की थी नीतीश कुमार से मुलाकात
दरअसल, एक दिन पहले ही उनकी बिहार के सीएम नीतीश कुमार से मुलाकात हुई थी। मुलाकात के बाद गुप्तेश्वर पांडेय ने बताया कि मैं यहां सीएम नीतीश कुमार से मिलने आया था। उनका धन्यवाद करने के लिए क्योंकि उन्होंने मुझे डीजीपी के रूप में अपने कर्तव्यों की सेवा करने की पूरी आजादी दी। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि मैंने अभी तक चुनाव लड़ने पर कोई फैसला नहीं लिया है।
नीतीश कुमार की कई मौकों पर कर चुके हैं तारीफ
गुप्तेश्वर पांडेय ने कई मौकों पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार की तारीफ कर चुके हैं। उन्होंने नीतीश सरकार की शराबबंदी समेत सड़क-पानी और दूसरे विकास कार्यों की जमकर प्रशंसा की है। कहा था कि वो प्रशासन और पुलिसिंग के मामले में बिल्कुल सख्त हैं। उनका विजन बहुत स्पष्ट हैं। हाल ही में फेसबुक लाइव के दौरान भी उन्होंने नीतीश सरकार के सपोर्ट में कई बातों का जिक्र किया।

बिहार में चुनाव कार्यक्रम का ऐलान
शुक्रवार को ही चुनाव आयोग ने बिहार में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान किया है। सूबे में कुल तीन चरणों में वोटिंग होगी, 28 अक्टूबर को पहले फेज का मतदान होगा। 3 नवंबर को दूसरे और 7 नवंबर को तीसरे आखिरी चरण का चुनाव कराया जाएगा। 10 नवंबर को मतगणना होगी, इसी के साथ बिहार में किसकी सरकार बनेगी ये भी स्पष्ट हो जाएगा। कोरोना काल में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग ने इस बार कई खास तैयारी भी की है। जहां मतदान का समय बढ़ाया गया है, वहीं कोविड-19 के संक्रमण पर लगाम को लेकर कई जरूरी कदम भी उठाए गए हैं।