बढ़ती दुष्कर्म की घटनाओं से महिलाओं में भय व्याप्त, आत्म सम्मान घटा: कांग्रेस

0
4

राजनीतिक स्वार्थ के चलते प्रदेश भाजपा कर रही स्तरहीन राजनीति: घनश्याम तिवारी

रायपुर। भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह, पूर्व मंत्रीगण अजय चंद्राकर, राजेश मूणत, बृजमोहन अग्रवाल के दुष्कर्म को लेकर दिये गये बयान पर पलटवार करते हुए छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी वरिष्ठ प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने कहा कि, भाजपाई दुष्कर्म की घटनाओं पर झूठे आंकड़े, सरकार पर आरोप एवं राजनीतिक बयानबाजी को ही इतिश्री समझते हैं, राजनीतिक स्वार्थ के चलते प्रदेश भाजपाई स्तरहीन राजनीति कर रहे है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने कहा कि आपराधिक घटनाओं पर प्रदेश सरकार गंभीर एवं संवेदनशील है, किसी भी घटनाओं पर अपराधी बख्शे नहीं जा रहे हैं चाहे वह कोई भी हो।

रमन सिंह वर्तमान भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष है एवं छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रहे हैं, उनके मन्त्रिण्डल में भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी के सहयोगी रहे अजय चंद्राकर, राजेश मूणत, बृजमोहन अग्रवाल जिस तरह धनोरा प्रकरण पर सरकार को कोसने का कार्य कर रहे वह राजनीतिक लोलुपता से कम नहीं क्योंकि उक्त घटना के अपराधी पकड़े जा चुके है जिम्मेदारों पर कार्यवाही हुई है।

केंद्रीय सत्तारूढ़ दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह देश में बढ़ रहे गैंग रेप, बलात्कार, अमानवीय कृत्यों और उसके बाद हत्या की घटनाओं पर संवेदना व्यक्त करना भी जरूरी नहीं समझते पर छत्तीसगढ़ में चिंताएं भयावह बताने में संकोच नहीं करते ये कैसी राजनीति है? केंद्र सरकार की निष्क्रियता, लापरवाही और हाथरस उत्तरप्रदेश की घटनाओं में आरोपियों के संरक्षक बनने से देशभर में महिलाओं में भय का वातावरण बन गया है, मातृशक्तियों का सम्मान लगातार घट रहा है।

2014 लोकसभा चुनाव भाजपा प्रधानमंत्री पद के दावेदार रहे और वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कहा था देश में बेटियां, महिलाएं सुरक्षित नहीं हम सत्ता पर आए तो यह सारी घटनाएं बंद होगी, मातृशक्ति का सम्मान भाजपा करना जानती है, आखिर हुआ क्या उत्तर प्रदेश हाथरस, भदोही, बलरामपुर, कठुवा, उन्नाव जैसी घटनाएं जहां बहुत से संदेह है, उन घटनाओं से पीड़ित परिजनों को न्याय नहीं मिला, अच्छे दिनों के वायदे 15 लाख प्रत्येक भारतीय के खाते में जमा, कर मुक्त भारत जैसी बड़ी-बड़ी बातों की तरह ही नारी शक्ति नारी अस्मिता लगातार आज देश में छिन्न-भिन्न हो रही है।