प्रदेश में लागू हुई चुनाव आचार संहिता, बार्डर पर व्यवस्था लिए पुलिस की बैठक

0
8

छतरपुर, कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी शीलेन्द्र सिंह ने छतरपुर जिले की मलहरा विधानसभा उप चुनाव को सुचारू एवं निर्विघ्न तरीके से सम्पन्न कराने के उद्देश्य से छतरपुर जिले से लगे उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती 4 जिलों बांदा, महोबा, झांसी और ललितपुर के प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर चुनावी रणनीति और कार्ययोजना के संबंध में चर्चा की। खजुराहो के एक निजी होटल में हुई अंतर्राज्यीय सीमा बैठक में पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के जरिए मलहरा विधानसभा के यूपी सीमा से लगे पुलिस स्टेशन और मतदान केन्द्रों सहित चुनाव से संबंधित अन्य सभी जरुरी जानकारियां साझा की गईं।

कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि उप चुनाव के दृष्टिगत समय-सीमा में  सीमावर्ती जिलों की पुलिस द्वारा आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों, स्थाई वारंटियों, बार्डर की निगरानी और बार्डर सील करने के संबंध में वांछित कार्यवाही की जाए। इसी तरह से मलहरा विधानसभा के ललितपुर जिले से लगे हुए मतदान केन्द्रों कुटौरा, टिकरिया, ढडोरा, हैदराबाद और हंसरी में उपचुनाव के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं भी सुनिश्चित कराई जाएं।

उन्होंने कहा कि उपचुनाव की आचार संहिता प्रभावशील होने के तत्काल बाद से यूपी से लगे हुए थानों के पुलिस दल द्वारा नियमित रुप से सीमा पर निगरानी और चौकसी व्यवस्था संचालित की जाए। इसी तरह बम्हौरीकलां,  पहाड़ीबंधा एवं कैमाहा चेक पोस्ट सहित अन्य सीमावर्ती चेक पोस्ट में मॉनिटरिंग की पुख्ता व्यवस्था बनाई जाए। इसके अलावा अन्य प्रवेश स्थानों पर भी निगरानी जरुरी है।

बैठक में मतदान पूर्व तैयारी के संबंध में चर्चा करते हुए बताया गया कि मतदान के 48 घंटे पूर्व बार्डर सील किए जाएंगे। इसके अलावा आवागमन करने वालों की भी सतत निगरानी होगी। मतदान केन्द्रों के आठ किलोमीटर के दायरे में मदिरा दुकानों को भी 48 घंटे पूर्व बंद कराया जाएगा। इस दौरान व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से जानकारियों के आदान-प्रदान और यूपी के संबंधित चार जिलों के अनुभाग स्तरीय अधिकारियों को उपचुनाव के संबंध में बैठक करने के निर्देश भी दिए गए। अधिकारियों ने सीमावर्ती निगरानी के संबंध में कहा कि मतदान दिवस और चुनाव के 2-3 दिन पूर्व से बेहतर निगरानी के लिए 24 घंटे सीमागश्ती की जाएगी। सभी प्रकार के आवागमन को अवरुद्ध किए बगैर वर्जित अवैध तस्करी और संदिग्ध व्यक्तियों को रोकने के लिए पुलिस और अन्य कानूनी अधिकारियों के साथ संयुक्त गश्ती भी होगी। सीमावर्ती क्षेत्र की नियमित निगरानी और बेहतर सामंजस्य के लिए थाना और चौकी स्तर पर बैठक करने के साथ ही उपद्रवी और निर्वाचन में अवरोध उत्पन्न करने वाले संभावित व्यक्तियों की जानकारी भी नियमित रुप से साझा की जाएगी।

यूपी के चार जिलों के पुलिस अधिकारियों ने छतरपुर जिले की सीमा से लगे पुलिस थाना क्षेत्रों और मतदान के संबंध में प्रभावी कार्यवाही का भरोसा दिया। इसी तरह फरार वारंटियों की निगरानी एवं सूची का आदान-प्रदान, बार्डर सीलिंग, चिन्हित स्थानों पर मतदान पूर्व जरुरी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने, एक-दूसरे राज्यों की पुलिस के साथ समन्वय बनाकर कार्य करने और असामाजिक तत्वों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही की बात भी कही। बैठक के अवसर पर जानकारी दी गई कि उपचुनाव के लिए 9 एफएसटी, 8 एसएसटी और 3 वीएसटी टीम का गठन किया गया है। मलहरा विधानसभा के 317 मतदान केन्द्रों में से 2 मतदान केन्द्र अतिसंवेदनशील और 85 संवेदनशील मतदान केन्द्र हैं। बैठक में पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक समीर सौरभ, उप जिला निर्वाचन अधिकारी प्रियांशी भंवर और एसडीएम पियूष भट्ट उपस्थित थे।