पत्र को लेकर कांग्रेस में घमासान जारी, जितिन प्रसाद का हुआ विरोध

0
7

कपिल सिब्‍बल ने पार्टी को दी यह नसीहत

नई दिल्ली, कांग्रेस नेतृत्व की मांग को लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखी गई चिट्ठी पर घमासान जारी है। उत्तर प्रदेश की लखीमपुरी कांग्रेस कमेटी ने जितिन प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इसके बाद सीनियर नेता कपिल सिब्बल की भी प्रतिक्रिया आई है। कपिल सिब्बल ने जितिन प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई की मांग से जुड़ी खबर की पृष्ठभूमि में आज यानी गुरुवार को कहा कि पार्टी को अपने लोगों पर नहीं, बल्कि भाजपा को ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ से निशाना बनाने की जरूरत है।

कपिल सिब्बल ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद को आधिकारिक तौर पर निशाना बनाया जाना ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ है। बता दें कि जिन 23 कांग्रेस नेताओं ने नेतृत्व बदलने की मांग को लेकर चिट्ठी लिखी थी, उनमें जितिन प्रसाद भी थे। कपिल सिब्बल ने ट्वीट किया, ‘दुर्भाग्यपूर्ण है कि उत्तर प्रदेश में जितिन प्रसाद को आधिकारिक रूप से निशाना बनाया जा रहा है। कांग्रेस को अपने लोगों पर नहीं, बल्कि भाजपा को सर्जिकल स्ट्राइक से निशाना बनाने की जरूरत है।’

उनके इस ट्वीट से परोक्ष रूप से सहमति जताते हुए कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने ट्वीट किया, ‘भविष्य ज्ञानी।’ खबरों के मुताबिक, लखीमपुरी खीरी कांग्रेस कमेटी ने पांच प्रस्ताव पारित किए हैं जिनमें से एक में मांग की गई है कि जितिन प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई की जाए। गौरतलब है कि सिब्बल, तिवारी और प्रसाद उन 23 नेताओं में शामिल हैं जिन्होंने कांग्रेस के संगठन में व्यापक बदलाव, सामूहिक नेतृत्व और पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग को लेकर हाल ही में सोनिया गांधी को पत्र लिखा था। इसको लेकर बड़ा विवाद खड़ा हुआ।