बापू  एक निष्काम कर्मयोगी और सच्चे अर्थों में युग पुरुष थे : ताम्रध्वज

0
4

रायपुर। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 151 वीं जयंती पर उन्हें नमन किया। उन्होंने कहा कि  बापू  एक निष्काम कर्मयोगी और सच्चे अर्थों में युग पुरुष थे। स्वतंत्रता संग्राम में बापू के योगदान को याद करते हुए वे बोले कि बापू की अगुवाई में अगुवाई चंपारण सत्याग्रह, खेड़ा सत्याग्रह,, असहयोग, नमक सत्याग्रह, सविनय अवज्ञा और भारत छोड़ो जैसे महत्वपूर्ण आंदोलनों की शुरूआत हुई जिससे ब्रिटिश हुकूमत की जड़े हिल गई।

उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी  अहिंसा के पुजारी थे। अहिंसा और सत्य के रास्ते पर चलकर उन्होंने देश को आजादी दिलाई। बापू ने अपना पूरा जीवन देश को समर्पित कर दिया। गरीबों, शोषितों की उन्नति और प्रगति के लिए बापू ने अनेकों समाजिक कार्य किये और देश को एकजुट किया। वो सदा लोक-हित में फैसले लिया करते थे। उनका जीवन हम सभी के लिए एक प्रेरणापुंज है। बापू के विचार आज भी हमारा मार्ग दर्शन कर रहे हैं और कल भी करेंगे। बापू सदैव शांति, अहिंसा और सच्चाई के प्रतिमूर्ति के रूप में याद किए जाएंगे।