ग्राम पंचायत बकेरा में भारी भ्रष्टाचार का आरोप, कलेक्टर से जांच की मांग

0
2

ग्रामीणों ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन, जांच की मांग की

rafi ahmad ansari
बालाघाट। ग्राम बकेरा के विक्रम सिंह बिसेन, दौलेन्द्र बिसेन व अन्य ग्रामिणों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौपकर जानकारी में बताया कि ग्राम पंचायत बकेरा में चेतना मनोज बोपचे के कार्यकाल के दौरान शासन की राशि से विभिन्न स्थानों पर सीमेंट, कांक्रीट की सडकों का निमार्ण किया गया है तथा इस प्रकार निर्मित सीमेंट, कांक्रीट सडकों के लिए स्वीकृतियां प्राप्त की गई है किन्तु इन सडको के निर्माण कार्य में गंभीर रूप से अनियमित्ता करके शासन की राशि हड़प कर भ्रष्टाचार किया गया है। इसलिए उचित रूप से जांच दल द्वारा मूल्यांकन किया जाकर शासकीय राशि की वसूली आवश्यक है। शासन की राशि से तेली मोहल्ला से लेकर अर्जुनटोली होते हुए उमरवाड़ा मेन रोड तक मुरूम मिट्टी की सड़क का निर्माण किया गया है। जिसमें अवैध रूप से मजदूरों का नाम लिखकर तथा अन्य रूप से भी बिल, बाउचर लगाकर शासन की राशि कर भ्रष्टाचार किया गया है। महिपाल गोंड के खेत से उमरवाड़ा जोड सड़क तक मुरूम मिट्टी की सड़क का निर्माण किया गया है जिसमें अवैध रूप से मजदूरों का नाम लिखकर तथा अन्य रूप से बिल बाउचर लगाकर शासन की राशि हड़प कर भ्रष्टाचार किया गया है। बाजार चौक, दुर्गा मंदिर के पास राधा कृष्ण मंदिर चौक के पास गांधी चौक के स्थान पर मैदान समतलीकरण के नाम पर कार्य कराया गया जिसमें अवैध रूप से मजदूरों का नाम लिखकर तथा अन्य रूप से बिल बाउचर लगाकर शासन की राशि हड़प ली गई है।

वही आगे की जानकारी में ग्रामीणों ने कहा कि सुखदेव मांग के घर के आगे से मुख्य सड़क से दो सड़के बनाई गई है जिसमें एक सड़क कुबडीआम तरफ से भरत कणपेति खेत होते हुए दामाजी शायर के घर तक तथा दूसरी सड़क ढोरफोडी तरह बनाई गई है जिसमें की मुरुम मिट्टी अर्थवर्क करवाया गया है जिसमें अवैध रूप से मजदूरों का नाम लिखकर बिल वाउचर निकाला गया है।

शौचालय का निर्माण किया जाना दशार्या गया है ग्राम पंचायत के द्वारा जिसमें कि अवैध रूप से कार्य दर्शा कर शासन की राशि हड़प ली गई एक ही परिवार के भिन्न-भिन्न सदस्यों के नाम पर शौचालय निर्माण कार्य दशार्या गया है जिनके शौचालय पूर्व से बने हुए थे उनके नाम से भी शौचालय निर्माण कार्य दर्शा कर शासन की राशि का गबन किया गया, षड्यंत्र में अन्य व्यक्तियों भी शामिल होने की आशंका है। जिनके नाम से बैंक खाते के माध्यम से राशि निकाली गई है विधायक तथा सांसद निधि के माध्यम से सभा मंच आदि निर्माण कार्य को किया जाना दशार्या गया जिसमें कि कुछ स्थानों पर पूर्व से ही चौपाल सभा मंच मौजूद थे इसके बावजूद उन स्थानों पर निर्माण कार्य ही कार्य दशा का राशि निकाल ली गई है पूर्व सांसद भगत की सांसद निधि से एक सभा मंच निर्माण कार्य दशार्या गया है जो कि वास्तविक रुप से करवाया ही नहीं गया है मात्र कागजी खानापूर्ति करके राशि निकाली गई है। बाजार हाट निर्माण कार्य किया जाना दशार्या गया है जिसमें की घटिया गुणवत्ता का मटेरियल प्रयोग किया गया है या अवैध रूप से बिल बाउचर लगाकर राशि हड़प ली गई है इसमें अन्य व्यक्ति शामिल होने की आशंका बताई जा रही है। जिन्हें की बैंक के माध्यम से भुगतान किया गया है वही ग्राम पंचायत बघेरा में पट मैदान समीकरण तथा अन्य मैदान समतलीकरण कार्य किया जाना दर्शा कर शासन को चुना लगाया गया है।

एवं ग्रामीणों को तो पता ही नहीं है कि किस मजदूर के नाम पर कितनी राशि डाली गई है यह किसके द्वारा निकाली गई है इस प्रकार शासन की राशि हड़प ली गई है। श्मशान घाट पर मोक्षधाम तथा ठीक उसके के आस-पास ही बगीचा में उस में बैठक व्यवस्था आदि का कार्य करवाया गया है जिसमें कि बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किया गया है। ग्राम पंचायत क्षेत्र में सड़कों के किनारे नाली निर्माण कार्य के नाम पर वित्तीय अनियमितता की गई है यह घटिया मटीरियल लगाकर कार्य करते हुए फर्जी बिल वाउचर एवं मस्टरोलों के माध्यम से शासन की राशि हड़प ली गई है ग्राम पंचायत भवन निर्माण कार्य कराया गया है जिसमें की घटिया मटेरियल लगाकर कार्य करते हुए फर्जी बिल वाउचर लगाया गया है।

वही आगे की जानकारी में ग्रामीणों ने बताया कि शासकीय स्कूल बकेरा में विद्यार्थियों के लिए शौचालय निर्माण कार्य करवाया गया है जिसमें की घटिया मटेरियल लगाकर कार्य करते हुए फर्जी बिल लगाया गया है सिंगोली रोड की तरफ से पुलिया निर्माण कार्य एवं डौंडी में अर्थवर्क किया जाना दशार्या गया है इसमें की घटिया मटेरियल लगाकर फर्जी बिल लगाया गया है वही पुराने तालाबों पर पनघट तथा पार आदि में सुधार कार्य करवाना जाना दशार्या गया है जिसमें फर्जी बिल भी लगाया गया है टेंस चिंटू के खेत के पास एवं अन्य स्थानों पर तालाब निर्माण कार्य करवाए गए हैं इतने गंभीर किस्म की अनियमितता बरती गई है तथा इसके फर्जी बिल बाउचर मास्टर के माध्यम से शासन की राशि हड़प ली गई है विजय विशेष इंद्र भूषण पटेल मनोज निल्ललारे विजय राठौड़ लालपुरा कृषि केंद्र दुकान आदि के नाम पर फर्जी बिल भुगतान धाकड़ शासकीय राशि की हेराफेरी की गई है वही ग्रामीणों ने आगे की जानकारी कहा कि ग्राम पंचायत बघेरा मनोज जी के कार्यकाल के दौरान बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किया गया जिसमें नाम पर तथा अन्य कई फर्जी बिल दी गई है यदि ग्राम पंचायत के संपूर्ण अभिलेखों की जांच की जाए तो उद्घाटित होगा कि कई कार्य करवाए ही नहीं गए हैं और मात्र कागजी कार्रवाई करके शासन की राशि हड़प ली गई है इस प्रकार भ्रष्टाचार में कई भुगतान तो फर्जी बैंक खाते खुलवा खाताधारकों की जानकारी के बगैर के कथित रूप से किए गए हैं।

जिसमें गंभीर किस्म के अपराध किए गए हैं जिनकी जांच करवाना ग्रामीणों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर मांग की है कि उक्त विषयों की जांच के लिए तत्काल विशेष जांच टीम गठित किया जाकर ग्राम पंचायत का संपूर्ण अभिलेख किया जाकर ग्राम के ग्राम वासियों से पूछताछ करते हुए तत्कालीन संपूर्ण अभिलेखों की तथा कार्यों की जांच एवं मूल्यांकन किया जा कर दोषियों के ऊपर जल्द से जल्द कार्रवाई की जाए।