कुलपति की सदबुद्धि के लिए कृषि वैज्ञानिकों-प्राध्यापकों ने किया हवन

0
99

पांचवें दिन जारी रही कामबंद हड़ताल

मुरैना। विश्वविद्यालय द्वारा प्राध्यापकों एवं वैज्ञानिको की न्यायोचित लंबित मांगो का निराकरण न करने के कारण केन्द्रीय प्राध्यापक वेज्ञानिक तकनिकी परिषद्, राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय के प्राध्यापक एवं वैज्ञानिक/ तकनिकी अधिकारी दिनांक 18.01.2021 से प्रदेश के सभी 5 महाविद्यालयों ग्वालियर, इंदौर,सीहोर, खंडवा एवं मंदसौर, 13 अनुसन्धान केन्द्रों, 22 जिलों के कृषि विज्ञान केन्द्रों पर प्रदेश भर में शांति पूर्ण तरीके से धरना आन्दोलन कर रहे है।

धरना आन्दोलन के दोरान आज धरना स्थल (विश्वविद्यालय गेट ) पर परिषद् द्वारा विश्विद्यालय प्रसाशन एवं कुलपति की सद्बुधी के लिए दोपहर 1.0 बजे विधवत पंडित जी को बुलाकर हवन का आयोजन किया गया।

हवन की आहुतियों के बाद परिषद् ने अब ये नारा देना सुरु कर दिया है कि (काम करो या कुर्शी छोड़ो / कुलपति हटाओ विश्वविद्यालय बचाओ के नारे तख्तियां और बेनर धरना स्थल पर दिखाई दे रहे है )।

कुलपति विगत तीन वर्षों के अपने कार्यकाल में अपने स्टाफ को CAS पदोन्नति, तकनिकी अधिकारीयों की पदोन्नति, सातवा वेतनमान, एवं LIC से पेंसन एवं अन्य एक भी कार्य नहीं कर पाए है।

परिषद् के अध्यक्ष डॉ ओम प्रकाश देपुरिया एवं अन्य पदाधिकारियों का कहना है कि यदि कुलपति जी लंबित मांगो का निराकरण करने में सक्षम नहीं है तो पद छोड़ दे, वेसे भी इन कुलपति के कार्यकाल में देश में टॉप 10 में आने वाले हमारे विश्वविद्यालय की रैंकिंग दो वर्ष में गिरकर 50 पर आगयी है।