हाथ करघा संघ के अधिकारी मनहर मांग रहे कमीशन, प्रदेश भर की महिलाएं बैठी धरने पर

0
3

रायपुर
हाथ करघा संघ के अधिकारी बीपी मनहर हाथ करघा महिला स्व सहायता समूह संठगन की महिलाओं को बच्चों के यूनिफार्म सीलने के काम के बदलने कमीशन की मांग कर रहे है। जो कमीशन नहीं देगा उस महिला समूह को रोजगार से वंचित कर देने की धमकी लगातार दे रहे है। अधिकारी की इन्हीं हरकतों को राजधानी में उजागर करने के उद्देश्य से प्रदेश भर की महिलाएं बुढ़ातालाब में एकत्र होकर धरना दिया और बाद में राज्यपाल व मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा।

महिला समूह की सदस्यों ने बताया कि हाथ करघा संघ के अधिकारी बीपी मनहर कमीशन लेकर महिलाओं को काम देते हैं, जो कमीशन नहीं देगा उस महिला समूह के रोजगार के सारे रास्ते बंद कर दिए जाते हैं। इससे परेशान होकर रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, बालोद और धमतरी से महिलाएं बुढ़ालाब धरना स्थाल पहुंची और अधिकारी के द्वारा मांगे जा रहे कमीशन के बारे में आमजनता को जानकारी दे रहीं थी। यह महिलाएं स्कूल शिक्षा विभाग और राजीव गांधी शिक्षा मिशन के तहत स्कूली बच्चों को दिए जाने वाली यूनिफार्म का काम राज्य हथकरघा विकास एवं विपणन सहकारी संघ मर्यादित के तरफ से महिला स्व सहायता समूह को दिया जाता है। सरकारी स्कूलों में बच्चों को दिए जाने वाली यूनिफॉर्म की सिलाई का काम ये महिलाएं करती हैं। सिलाई का यह काम सरकारी विभागों से इन्हें दिया जाता है। लेकिन इस बीच कई अफसर अपनी मनमानी करते हुए कमीशन का खेल चला रहे हैं। जिसकी वजह से महिलाओं तक काम नहीं पहुंच पा रहा और लॉक डाउन की वजह से इनकी आर्थिक स्थिति पहले ही खराब है। महिलाओं का कहना है कि अधिकारियों की इस रवैये से वो बेहद परेशान हैं।

धरना देनी आई महिलाओं ने बताया कि रायपुर के चंगोराभाठा इलाके के रहने वाले अजय हटवार, कोटा निवासी राजेश साहू, आमानाका निवासी उत्तम देवांगन नाम के लोग इस कमीशनखोरी में शामिल हैं। महिलाओं ने दावा किया यह लोग बीबी मनहर के लिए कमीशन जुटाने का काम करते हैं इसलिए महिलाएं बीबी मनहर को हटाने की मांग कर रही हैं। महिलाओं ने बीबी मनहर को हटाने की मांग करते हुए राज्यपाल और मुख्यमंत्री के नाम इस दौरान एक ज्ञापन भी सौंपा।