हाथरस केस को सांसद मंडावी ने बताया बनावटी, कांग्रेस ने कहा पूरी नारी शक्ति का अपमान

0
3

रायपुर
भाजपा सांसद मोहन मंडावी ने कोंडागांव दुष्कर्म मामले में धरना-प्रदर्शन करने के लिए पहुंचे हुए थे इस दौरान उन्होंने हाथरस केस को बनावटील करार देते हुए कोई अत्याचार नहीं होने की बात कहकर नया विवाद खड़ा कर दिया है। कांग्रेस की ओर से कड़ी निंदा करते हुए इसे एक बनावटी घटना बताकर पूरी नारी शक्ति का अपमान किया है।

भाजपा सांसद मोहन मंडावी ने कहा कि हाथरस केस बनावटी है, किसी पर कोई अत्याचार नहीं हुआ है। वहां की घटना को बनावटी बनाते हुए अत्याचार बताकर कांग्रेस के बड़े-बड़े लीडर वहां पहुंच रहे हैं जिसका अस्तित्व खत्म हो गया है। उन्होंने कोंडागांव की घटना को हकीकत की घटना बताया और कहा कि इसके लिए हम धरने पर बैठ रहे हैं। गैंगरेप की शिकार हुई 17 वर्षीय पीड़िता ने आत्महत्या कर ली थी। इस घटना के विरोध में सरकार और पुलिस की विफलता पर हम सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे है और पीड़िता को न्याय दिलाकर ही रहेंगे। हम यह धरना किसी बनावटी के लिए नहीं बैठ रहे हैं। कांग्रेस वाले जहां बनावटी होता है, वहां धरने पर बैठते हैं।

मंडावी के बयान की प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद फूलोदेवी नेताम ने कहा है कि हाथरस की जघन्य अपराध को सांसद मोहन मंडावी एक बनावटी घटना बताकर पूरी नारी शक्ति का अपमान किया है। रेपिस्ट को बचाने में भाजपा के नेता लगे हुये रहते है। अपराधी और भाजपा का चोली दामन का साथ रहता है। मोहन मंडावी के बयान महिला विरोधी बयान है। इसी महिला विरोधी मानसिकता के कारण छत्तीसगढ़ में 15 साल राज करने के बाद भी 15 सीट में ही सिमट गये। पूर्ववर्ती रमन सरकार के समय ओएसडी रहे ओपी गुप्ता के द्वारा नाबालिक लड़की के साथ बलात्कार किया जाता है और उस रेपिस्ट ओपी गुप्ता को भाजपा के नेता एवं नेत्रियां संरक्षण देने का काम करती है और बेशर्मी की हद यहां तक की होती है कि पीड़िता एवं परिवार वालों को जान से मारने की धमकी एवं सबूतों को मिटाने का प्रयास किया जाता है। उन्होंने कहा कि योगी सरकार के लचर कानून एवं अपंग स्वास्थ्य व्यवस्था के कारण पीड़ित बच्ची की मृत्यु हो जाती है। योगी सरकार के संरक्षण में उस पीड़िता की आधी रात को परिवार वालों को एक कमरा में कैद कर परिजनों की अनुपस्थिति में पीड़िता का अंतिम संस्कार भी कर देते है। पीड़िता के परिजन एवं बूढ़े मां बाप पीड़ित के अंतिम दर्शन के लिये गिड़गिड़ाते रहे अंधे भैरे निर्दय लोग आखिरी बार भी देखने को नहीं दिये।

उन्होंने कहा कि भाजपा के सांसद साक्षी महाराज बलात्कारियों से जाकर मिलते हैं हाथरस की घटना के दुष्कर्मी जो जेल में बंद है उसे भाजपा के सांसद जेल में मुलाकात करने जाते हैं। दुर्भाग्य की बात है भाजपा के नेता पीड़ितों के पक्ष में नहीं बल्कि हमेशा अपराधियों के साथ ही खड़े दिखते हैं। बेटी की मृत्यु हो जाती है, आधी रात को अंतिम संस्कार किया गया क्या ये भी बनावटी था? एक लड़की जिसके साथ जघन्य अपराध हुआ और उसके बाद मृत्यु हो जाती है उसे बदनाम करने के लिये दुष्प्रचार किया जाता है। आईटी सेल भी पीड़िता के परिजनों को प्रताड़ित कर रही है। इसमें उत्तरप्रदेश के शासन आला अधिकारी भाजपा के नेता लगे हुये है और उत्तरप्रदेश की सरकार अपनी साख को बचाने के लिये किसी भी हद तक पार कर सकते है। ये मोहन मंडावी की यह बयान निंदनीय एवं शर्मनाक है। योगी सरकार के नाक को बचाने के लिये ये मनगढ़त कहानी बनाया जा रहा है। भाजपा अपराधियों को संरक्षण देने का काम करती आई है। राजनीति की रोटी सेकने के लिये बेटी के बलात्कार को भी बनावटी बताया जा रहा है। शर्म आती है ऐसे प्रतिनिधी जो बलात्कार को असली नकली कहने में लगे है।