सेवड़ा विधायक घनश्याम सिंह का ट्रैफिक सूबेदार से बहस करने का वीडियो हुआ वायरल

0
2

दतिया
 मेरे विधानसभा क्षेत्र में ही चेकिंग क्यों करते हो, आपके पास पूरा जिला है दूसरे इलाकों में भी जाओ और यदि हिम्मत है तो मंत्री जी की दतिया विधानसभा मैं चेकिंग करो, लेकिन मेरी विधानसभा से जाइए, कुछ इसी तरह की बहस करते हुए का वीडियो सेवड़ा विधायक कुंवर घनश्याम सिंह का वायरल हुआ है जिसमें वह ट्रैफिक सूबेदार से बहस करते नजर आ रहे हैं.

दरअसल हुआ यह की सेवड़ा विधायक कुंवर घनश्याम सिंह बीते रोज क्षेत्र का भ्रमण कर वापस लौट रहे थे तो हाईवे पर सड़क किनारे वाहनों की कतार लगी हुई थी जब विधायक ने इसका कारण पता किया तो ज्ञात हुआ की ट्रैफिक पुलिस द्वारा वाहन चेकिंग की जा रही है इसी दौरान कुछ लोगों ने विधायक से कहा कि पुलिस रोजाना इसी तरह परेशान किया करती है उनकी बात सुनकर विधायक महोदय गुस्से में आ गए और उन्होंने वहां मौजूद ट्रैफिक सूबेदार की क्लास ले डाली. जो वीडियो वायरल हुआ है उसमें सेवड़ा विधायक श्री सिंह द्वारा ट्रैफिक सूबेदार से कहा जा रहा है कि आप रोजाना मेरे क्षेत्र में ही चेकिंग क्यों करते हैं आप भांडेर बरौनी क्यों नहीं जाते हैं यदि हिम्मत है तो मंत्री जी की दतिया विधानसभा में चेकिंग करो पता पड़ जाएगा, तुमने तो इसे दिन रात का परमानेंट चेकिंग प्वाइंट बना दिया है जैसे यह कोई बैरियर हो, उनकी बात सुनकर ट्रैफिक सूबेदार कहते नजर आ रहे हैं कि हम दिन में यहां चेकिंग नहीं करते हैं सिर्फ आधा आधा घंटे का सब जगह पॉइंट है वही यहां लगा हुआ है लेकिन विधायक उनकी बात को सुनने के लिए तैयार नहीं हुए और उन्होंने ट्रैफिक सूबेदार वहां से जाने का निर्देश दे दिया.

वायरल हुए वीडियो के संबंध में जब सेवड़ा विधायक कुंवर घनश्याम सिंह से बात की गई तो उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि काफी समय से शिकायत मिल रही थी कि उक्त स्थान पर ट्रैफिक पुलिस द्वारा परमानेंट चेकिंग प्वाइंट बना दिया गया है यहां पर लोगों को पूरे पेपर होने के बावजूद बीमा फिटनेस पोलूशन आदि के नाम पर परेशान किया जाता है उन्होंने कहा कि जब ट्रैफिक अधिकारियों के पास पूरा जिला है तो फिर उन्होंने अकेली मेरी ही विधानसभा को क्यों चुन रखा है उन्होंने कुछ क्षेत्रों के नाम बताते हुए वहां पर चेकिंग नहीं होने की बात भी कही, इसके अलावा विधायक ने कहां की ट्रैफिक अधिकारी सारे यातायात कर्मचारियों को अपने साथ ले जाकर उक्त स्थान पर चेकिंग में लगा देते हैं जिससे शहर के व्यस्ततम इलाकों में ट्रैफिक मैनेजमेंट प्रभावित होता है उन्होंने कहा कि ट्रैफिक अफसरों का काम ट्रैफिक मैनेजमेंट करना है ना की जनता को बेवजह परेशान करना. विधायक श्री सिंह ने यहां तक आरोप लगाया की ट्रैफिक अफसरों द्वारा फर्जी रसीद कट्टे छपवा कर लोगों से वसूली की जा रही है जिसके पैसे जेब में रखे जा रहे हैं उन्होंने कहा कि सूचना तो यहां तक है कि यह पैसा ऊपर तक जाता है हालांकि इसकी उन्होंने कोई पुष्टि नहीं की है.

वहीं इस मामले का वीडियो सामने आने पर पुलिस अधिकारी भी लामबंद होते नजर आ रहे हैं कुछ अफसरों द्वारा इस मामले को लेकर दबी जबान से कहा गया कि जब राजनेता इस तरह से पॉलीटिकल प्रेशर डालेंगे तो हम निष्पक्षता से किस तरह से कार्य कर सकेंगे.बाहर हाल अब यह देखना लाजिमी होगा के राजनेता और अफसरशाही के बीच छड़ी इस जंग का निपटारा किस तरह से होता है.