विधायक शेरा का मांधाता सीट से चुनाव लड़ने का एलान, प्रेशर पॉलिटिक्स

0
3

इंदौर
अपने बयानों से हमेशा चर्चा में बने रहने वाले निर्दलीय विधायक सुरेन्द्र सिंह शेरा कांग्रेस के बाद अब बीजेपी सरकार की टेंशन बढ़ा रहे हैं. इंदौर पहुंचे विधायक शेरा ने अभी हाल ही में खाली हुई मांधाता सीट से चुनाव लड़ने का एलान कर सियासी सरगर्मी बढ़ा दी है. वे कांग्रेस नेताओं के संपर्क में हैं. उन्होने कांग्रेस के चुनाव सह प्रभारी रघु परमार के साथ लंच किया. उन्होंने कहा कि जनता चाहती है कि उनके परिवार का कोई सदस्य मांधाता  विधानसभा सीट से चुनाव लड़े. उन्होंने कहा कि जैसे बुरहानपुर में जनता ने मुझे चुनाव लड़वाया था, उसी प्रकार से मांधाता से लगातार चुनाव लड़ने के लिए मेरे पास कॉल आ रहे हैं. मेरे दो भाई खंडवा लोकसभा सीट से दो बार सांसद रहे हैं. इसलिए मेरी पत्नी या परिवार को कोई सदस्य चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं.

कांग्रेस से चल रही शेरा की बातचीत
कमलनाथ सरकार में लगातार मंत्री पद की मांग करते रहे विधायक सुरेन्द्र सिंह शेरा अभी बीजेपी सरकार को समर्थन कर रहे हैं. लेकिन उनकी नजदीकियां एक बार फिर कांग्रेस नेताओं के साथ दिख रही हैं और वे सुरेन्द्र सिंह को चुनाव लड़ने का आमंत्रण भी दे रहे हैं. मांधाता उपचुनाव में कांग्रेस के सह प्रभारी और प्रदेश महासचिव रघु परमार का कहना है कि विधायक सुरेन्द्र सिंह शेरा का प्रभाव तो मांधाता सीट पर है, क्योंकि उनके दो भाई सांसद रहे हैं. उनकी भतीजी भी विधायक रही हैं. मांधाता की राजनीति में उनका दखल है. इसलिए कांग्रेस उनसे बातचीत कर रही है, जिसका लाभ कांग्रेस को मिल सके.

कांग्रेस की एक तीर से दो निशाने साधने की तैयारी
कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए मांधाता विधायक नारायण पटेल के टिकट की घोषणा तो बीजेपी ने कर दी है लेकिन कांग्रेस मजबूत उम्मीदवार की तलाश में हैं. ऐसे में वो सुरेन्द्र सिंह शेरा की पत्नी को टिकट देकर एक तीर से दो निशाने साध सकती है. एक तो कांग्रेस को शेरा का समर्थन मिल जाएगा, दूसरा मांधाता से मतबूत प्रत्याशी भी मिल जाएगा. हालांकि, सुरेन्द्र सिंह शेरा निर्दलीय ही चुनाव मैदान में उतरने की बात कह रहे हैं. ऐसे में बीजेपी जरूर मुश्किल में नजर आ रही है.