विंध्याचल में पुरोहित समेत 88 लोगों का हुआ कोरोना टेस्ट

0
7

लखनऊ
विंध्याचल स्टेट बैंक चौराहा स्थित कैंप कार्यालय में बुधवार से सुबह नगर मजिस्ट्रेट जगदम्बा सिंह के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की ओर से कैंप लगाया गया है। बुधवार को शिविर में पहले दिन 119 लोगों का पंजीकरण किया गया। जिसमें से 88 लोगों का करोना टेस्ट किया गया। 31 लोग अनुपस्थित रहे।

नगर मजिस्ट्रेट ने बताया कि नवरात्र के दौरान सभी दुकानदारों एवं पुरोहितों का टेस्ट कराना अनिवार्य है। दुकानदार कोरोना का प्रमाण पत्र रखने के बाद ही दुकान पर बैठ सकेंगे, जबकि पुरोहित टेस्ट के बाद मंदिर पर जा सकेंगे। टेस्ट टीम में एलटी  एस के सिंह, आशीष , कमलेश्वर, रामप्रसाद, प्रदीप यादव रहे । विंध्याचल में पुरोहितों, दुकानदारों व नवरात्र मेले से जुड़े लोगों की कोविड-19 जांच के लिए लगाए गए शिविर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया।

दो दिनों में टेस्ट करा पाना संभव नहीं :  नगर मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम कोरोना टेस्ट करना शुरू किया। मेला क्षेत्र के दुकानदार एवं पुरोहित को कोरोना टेस्ट अनिवार्य किया गया है, लेकिन दो दिनों में सभी का कोरोना जांच संभव नहीं है। 1500 कार्ड होल्डर पुरोहित हैं, जबकि लगभग 4000 दुकानदार, मुख्य दुकानदारों के सहयोगी। इसके अलावा काली को एवं अष्टभुजा में भी हजारों की संख्या में लोग रहते हैं। ऐसे में दो दिन में सभी का  टेस्ट असंभव है।