भाईदूज पर रूठे भाई-बहन इस होंगे एक साथ, मनाएंगे त्योहार

0
2

 भोपाल 
इंजीनियर भाई अौर बैंक में अधिकारी बहन के बीच तीन साल से रिश्तों में दरार आ गई थी। बहन का कसूर यह था कि उसने भाई के दोस्त से लव मैरिज कर ली थी। जिसके बाद बहन से भाई रूठ गया था। तीन साल से बहन का मायका में आना-जाना भी बंद था। इस बीच भाई का अपनी पत्नी से विवाद हुआ और पत्नी रूठकर मायके चली गई।

उसने पति को तलाक का नोटिस भी भेज दिया। इस बात की खबर बहन को लगी तो उसने अपने भाईव भाभी के रिश्ते को बचाने में जी-जान से जुट गई। बहन ने अपनी भाभी से केस वापस करवाया और मनाकर भाई के पास भेजा। इसके बाद भाई-बहन के बीच रिश्ते सुलझ गए और इस भाईदूज पर बहन अपने मायके भाई के साथ त्योहार मनाने आई है। यह मामला कुटुंब न्यायालय की काउंसलर नुरून्निशां खान के पास पहुंचा था। मामले में समझौता हो गया।

बहन नहीं होती तो मेरा घर टूट जाता
तापमान बदलने से एलर्जी, बुखार व गले में संक्रमण के मरीज 20 फीसद तक बढ़े
तापमान बदलने से एलर्जी, बुखार व गले में संक्रमण के मरीज 20 फीसद तक बढ़े

काउंसिलिंग के दौरान भाई ने बताया कि वह बहन से 7 साल बड़ा है। उसने कहा कि बहन के कारण उसका घर टूटने से बच गया, नहीं तो पत्नी ने अलग होने का फैसला कर लिया था। इससे मेरी बेटी भी पत्नी के पास ही रहती। ऐेसे में बहन ने अपनी भाभी को समझाया और काउंसिलिंग कराकर हमारे रिश्ते को सुलझाया। भाई ने यह भी कहा कि बहन हर छोटी-छोटी बातें मुझसे शेयर करती थी, लेकिन अपनी शादी करने की बात को नहीं बताई। इस कारण उससे नाराज था। भाई ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए कहा कि वह अपनी बहन को अब कभी रूठने नहीं देगा।
 
भाभी से मायका का जुड़ाव बना रहा
वहीं बहन ने कहा कि वह तीन साल तक मायके से दूर रही। उसकी भाभी ही थीं जो भाई से चुपके फोन कर मेरा हाल-चाल जानती और मायके की भी सभी बातें बताती। ऐसे में जब भाई व भाभी मतभेद हुआ तो मुझे जानकार अच्छा नहीं लगा। इसके बाद भाभी के समझाने का प्रयास किया और बेटी की खातिर वे भी मानने को तैयार हो गई। भाभी से ही मेरा मायके का जुड़ाव तीन साल तक बना रहा।