पूर्व भारतीय ऐथलीट को मां और पत्नी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार

0
2

  बैंगलुरु

सिंह के एक करीबी दोस्त ने कहा कि उन्हें इस खबर पर यकीन ही नहीं हो रहा है। 63 वर्षीय इकबाल ने 1983 में कुवैत में हुए एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप में शॉट पुट में भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीता था।

पूर्व खिलाड़ी ने जमशेदपुर से बताया, 'मुझे बिलकुल यकीन नहीं हो रहा है कि इकबाल ने अपनी मां और बीवी की हत्या कर दी है। वह बहुत दोस्ताना स्वभाव के थे। मैं फिलेडेलफिया में उनके घर पर रुका हूं। उनकी पत्नी बहुत अच्छी महिला थीं। और उनकी मां की उम्र 90 से ऊपर रही होगी।'

उन्होंने आगे कहा, 'मुझे नहीं पता कि क्या गड़बड़ हुई लेकिन बीते कुछ महीने से वह काफी ज्यादा तनाव में थे और दवाएं ले रहे थे। उनके बच्चे अच्छी तरह सेट हैं। सिर्फ इकबाल ही बता सकते हैं कि उन्होंने ऐसा क्यों किया। उन्होंने खुद को भी घायल कर लिया है और अब अस्पताल में हैं।'

1980 के दशक में ऐथलीट के रूप में अपना करियर समाप्त करने के बाद वह अमेरिका शिफ्ट हो गए थे। उनके दोस्त याद करते हैं, 'उन्होंने टाटा स्टील के साथ काम किया और फिर पंजाब पुलिस में बतौर इंस्पेक्टर भर्ती हो गए। उनकी पोस्टिंग जालंधर में थी।'

सिंह पंजाब के होशियारपुर के रहने वाले हैं। 80 के दशक में वह भारत के चोटी के शॉट पुट खिलाड़ियों में शामिल थे। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रद्रर्शन 18.77 मीटर था जो उन्होंने 1988 में नई दिल्ली में हुई परमिट मीट में हासिल किया था। यहां उन्होंने गोल्ड मेडल जीता था। भारत के ऑल टाइम लिस्ट में सिंह टॉप-20 में जगह बनाते हैं।

अमेरिका में स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिंह के खिलाफ सोमवार को मामला दर्ज किया गया।

सिंह ने पुलिस को खुद फोन करके बताया कि उन्होंने अपनी मां और पत्नी की हत्या कर दी है।