पाकिस्तान को ख़ुफ़िया जानकारी देने के आरोप में एक शख्स गिफ्तार,ISI से जुड़े हैं तार

0
4

    अहमदाबाद
      नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की टीम ने सोमवार देर रात गुजरात के गोधरा से एक शख्स इमरान गितेली को गिरफ्तार कर अपने साथ दिल्ली ले गई. एनआईए की जांच में सामने आया है कि इमरान गितेली के तार पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ जुड़े हैं. माना जा रहा है कि इमरान गितेली विशाखापट्टनम जासूसी केस के प्रमुख आरोपियों में से एक है.

37 साल का इमरान गितेली गोधरा का रहने वाला है और वह ऑटो रिक्शा चालक है. मिली जानकारी के मुताबिक वह पाकिस्तान के लिए जासूसी का काम भी करता था. पिछले दिनों एनआईए ने जिन जासूसों को गिरफ्तार किया था, उनके बारे में एनआईए जांच कर रही थी और उनके वित्तीय ट्रांजेक्शन की जांच हो रही थी, उस वक्त इमरान गितेली के बैंक अकाउंट की जानकारी एनआईए को मिली थी.

एनआईए को लॉकडाउन से पहले और लॉकडाउन के बाद के पैसे के ट्रांजेक्शन की जानकारी भी मिली है. साथ ही इमरान गितेली के पाकिस्तान जाने के भी और उसके कुछ रिश्तेदारों के पाकिस्तान में रहने की जानकारी एनआईए को मिली है.

एनआईए ने गोधरा स्थानीय पुलिस की मदद से इमरान के घर छापेमारी कर उसे गिरफ्तार किया है. एनआईए के मुताबिक यह एक आंतरराष्ट्रीय जासूसी रैकेट है जिसमें पाकिस्तान से कुछ भारतीयों को एजेंट के तौर पर चुना गया था. इनका काम भारतीय नौसेना के जहाज, पनडुब्बी और रक्षा प्रतिष्ठानों के लोकेशन और दूसरी जानकारी इकट्ठी करनी रहती थी और ये सभी जानकारी पाकिस्तान को भेजनी होती थी.

इसी मामले में 15 जून को एनआईए ने 14 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी जिसमें पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी आईएसआई को अहम जानकारी पहुंचाने के बदले में ऐसोसिएट बैंक अकाउंट में पैसे दिए गए थे. गिरफ्तार इमरान गितेली प्रमुख आरोपियों में से एक है. इमरान गितेली रिक्शा ड्राइवर होने के साथ-साथ पाकिस्तान में कपड़ों का व्यापार भी करता है. एनआईए ने इमरान के घर से कई डिजिटल डॉक्यूमेंट भी बरामद किए हैं.