नगरीय प्रशासन व श्रम विभाग द्वारा बरती जा रही उदासीनता पर मुख्यमंत्री ने जताई नाराजगी

0
1

रायपुर
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नगरीय क्षेत्रों के स्लम इलाकों में नागरिकों को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने में नगरीय प्रशासन एवं श्रम विभाग द्वारा बरती जा रही उदासीनता को लेकर नाराजगी जताई उन्होंने नगरीय प्रशासन विभाग तथा श्रम विभाग को इस योजना के क्रियान्वयन में तेजी लाने तथा जरूरतमंद लोगों को स्वास्थ सुविधा का लाभ दिलाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक के दौरान स्लम इलाकों में  नियमित रूप से घर पहुंच स्वास्थ्य सेवा के लिए मोबाइल मेडिकल यूनिट शुरू किए जाने की स्थिति की भी समीक्षा की।   

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में राज्य के नगरीय इलाको में मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के क्रियान्वयन की स्थिति की समीक्षा की। बैठक में मुख्य सचिव  आरपी मंडल मुख्यमंत्री के अपर सचिव श्री सुब्रत साहू सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। गौरतलब है कि राज्य के 14 नगर निगम क्षेत्रों के स्लम इलाकों में 60 मोबाइल मेडिकल यूनिट के संचालन के लिए 55 लाख रुपयेका प्रावधान किया गया है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने नगरीय प्रशासन विभाग के सचिव को  इस सम्बंध में आज ही सभी नगरीय निकायो से चर्चा करने  और मोबाइल मेडिकल यूनिट सेवा का शीघ्र संचालन शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्लम इलाके के लोगों के स्वास्थ्य की नियमित रूप से जांच की जानी चाहिए तथा आवश्यकता अनुसार उन्हें उपचार  और निशुल्क दवाएँ  दी जानी चाहिए।

मुख्यमंत्री के निर्देश के परिपालन में नगरीय प्रशासन विभाग के सचिव ने राज्य के सभी नगरीय निकायों के अधिकारियों की वर्चुअल  बैठक लेकर  मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के क्रियान्वयन की जानकारी ली और इसमें  निरंतरता और तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मोबाइल मेडिकल यूनिट के माध्यम से स्लम इलाकों में एमबीबीएस डॉक्टर के जरिए चिकित्सकीय परामर्श, पैथोलॉजी जांच, मुफ्त दवाएं, विशेष इलाज हेतु शासकीय अस्पताल में रेफरल आधारित फ्री एंबुलेंस एवं फ्री रेडियोलॉजी आदि की सुविधाएं लोगों को उपलब्ध कराई जाएंगी।