दिल्ली में कोरोना के मामले फिर बढ़ें, मरीजों के लिए रिजर्व 62% वेंटिलेटर बेड फुल

0
3

नई दिल्ली
दिल्ली में एक बार फिर कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। दिल्ली में कोरोना से पीड़ित करीब 11.55 फीसदी मरीज वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। डॉक्टरी भाषा में ऐसे मरीजों को सीवियर कैटिगरी में माना जाता है। ये मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में वेंटिलेटर वाले मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इसकी एक वजह बाहर से आने वाले मरीज भी हैं। लेकिन इसकी वजह से बुधवार की शाम तक दिल्ली में कोविड मरीजों के लिए रिजर्व में रखे गए 62 फीसदी वेंटिलेटर बेड फुल हो गए। हालात यह हैं कि 49 अस्पतालों में एक भी वेंटिलेटर बेड खाली नहीं है। दिल्ली सरकार के कोरोना ऐप में दिए गए अपडेट के अनुसार, अभी दिल्ली में कोविड के लिए रिजर्व रखे गए कुल 1294 वेंटिलेटर बेड हैं। इनमें से 808 बेड फुल हैं और 486 बेड अभी खाली हैं। ऐप के अनुसार, बुधवार शाम तक दिल्ली में कोरोना के कुल 6993 मरीज अलग-अलग अस्पतालों में एडमिट हैं और 808 मरीज वेंटिलेटर पर हैं। औसतन 11.55 फीसदी मरीज वेंटिलेटर पर हैं। डॉक्टर का कहना है कि वेंटिलेटर पर जिन मरीजों को रखा जाता है, वह मेडिकली सीवियर माने जाते हैं। उन्हें एक्स्ट्रा केयर के साथ बेहतर इलाज की जरूरत होती है। खासकर कोविड में वेंटिलेटर पर रखे जाने का मतलब है कि मरीज को सांस लेने में दिक्कत हो रही है और ऑक्सीजन सेचुरेशन कम है। राहत की बात यह है कि अभी भी दिल्ली में वेंटिलेटर बेड 486 खाली हैं। कई बड़े सरकारी अस्पतालों में यह बेड खाली हैं। एलएनजेपी में रिजर्व रखे गए 200 बेड में से 62 बेड खाली हैं। राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में 191 में से 145 खाली हैं। इसी प्रकार सरदार पटेल हॉस्पिटल में 100 में से 93 बेड खाली हैं। एम्स झज्जर में 50 में से 30 बेड खाली हैं। जीटीबी में 112 में से 19 बेड खाली हैं।

एक दिन में 3,714 नए केस
दिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 3,714 नए मामले सामने आए जिसके बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 2.56 लाख के पार पहुंच गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण मरने वाले मरीजों की संख्या 5,087 पर पहुंच गई है। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ताजा जानकारी के अनुसार कोविड-19 से 36 और लोगों की मौत हो गई। वर्तमान में दिल्ली में 30,836 मरीजों का इलाज चल रहा है। दिल्ली में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 2,56,789 हो गए है।