दादा के साथ खुखड़ी बिनने गई युवती को हाथी ने पटका, गंभीर हालत में अंबिकापुर में भर्ती

0
4

भैयाथान
रविवार की सुबह ग्राम पंचायत गोटगवां में दादा के साथ तीन सहेलिया जंगल में खुखड़ी बिनने गई थी इसी दौरान हाथियों के दल ने उन पर हमला बोल दिया, जिसमें एक युवती को हाथी ने पकड़कर उसे पटक दिया जिससे वह लहूलुहान हो गई। तत्काल उसे स्थानीय डॉक्टर के पास ले लाया गया जहां से उसे उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती किया गया है जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। वन विभाग की टीम तत्काल घटनास्थल पर पहुंची और परिजनों को तत्कालिक सहायता के रुप में 10 हजार रुपये दिए गए।

प्रतापपुर से 5 किमी दूर ग्राम पंचायत गोटगवां के चिटकाबहरा, आमांडांड निवासी प्रिया कोड़ाकू पिता जमुना (15 वर्ष) रविवार की सुबह 6 बजे अपने दादा व गांव की ही 3 अन्य सहेलियों के साथ जंगल में खुखड़ी बीनने गई थी। इसी दौरान अचानक हाथियों का दल आ गया। यह देख सभी भागने लगे लेकिन एक हाथी ने प्रिया को सूंड से उठाकर जमीन पर पटक दिया, जबकि उसकी सहेलियां वहां से भागने में कामयाब हो गईं। हो-हल्ला सुनकर गांव के लोग वहां पहुंचे और शोर मचाया तो हाथी जंगल की ओर चले गए। इसके बाद किशोरी को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां प्राथमिक उपचार पश्चात किशोरी की गंभीर हालत को देखते हुए उसे अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में रिफर किया गया जहां अब उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।  

इस संबंध में रेंजर पीसी मिश्रा ने कहा कि कल रात में 43 से 45 हाथियों के दल की जानकारी ग्राम गौरा व कोटया के मध्य होने की मिली थी, जिसकी निगरानी वन विभाग के द्वारा की जा रही थी। आज सुबह यह दल ग्राम पंचायत गोटगवां पहुंच गया और यह हादसा हो गया। जानकारी मिलते ही वन विभाग की टीम तत्काल घटनास्थल पहुंची और युवती के परिजनों को तात्कालिक सहायता राशि के रूप में 10 हजार रुपए प्रदान किया गया।