ढाबा संचालक के बेटे का अपहरण, माँ को फोन कर मांगे 50 लाख

0
2

भिलाई। दो कार सवारों ने दुर्ग – नागपुर हाईवे रोड पर देवादा राजनंदगांव स्थित उड़ता पंजाब ढाबा संचालक के नाबालिग बेटे गुरप्रीत सिंह का अपहण कर ले गए। देर रात में अपहरणकतार्ओं ने माँ को फोनकर कहा कि भैया (बच्चे के पिता) का फोन नहीं लग रहा है, इसलिए आपको कॉल किया भाभी जी, 50 लाख रुपयों का बंदोबस्त करें और बच्चे को ले जाएं। पिता बलजीत सिंह की रिपोर्ट पर थाना सोमनी राजनंदगांव को दी और पुलिस ने अपराध क्रमांक 190/20 के तहत मामला पंजीबद्ध करते हुए अपरणकतार्ओं की तलाश शुरू कर दी है। घटना के बाद काफी देर तक ढाबे में अफरा-तफरी का माहौल था, वहीं घर वालों का रो-रोकर बूरा हाल है।

घटना के संबंध में सोमनी थाना प्रभारी शिवेंद्र राजपूत ने बताया कि घटना कल रात करीब 9:15 बजे की है। प्रार्थी बलजीत सिंह पिता गोपाल सिंह 45 साल निवासी चौहान ग्रीन वैली जुनवानी भिलाई थाना सुपेला का उड़ता पंजाब ढाबा देवादा राजनांदगांव दुर्ग नागपुर हाईवे रोड पर स्थित है। कल उनका नाबालिक पुत्र भी उनके साथ था। रात को करीब 2 कार में कार क्रमांक सीजी 06 जीके 5888 एवं दूसरी कार क्रमांक एचपी 37 सी 0994 में चार-पांच की संख्या में अज्ञात युवक उतरे। करीब 9:15 बजे के आसपास ढाबा संचालक के पुत्र का अपरहण कर फरार हो गए। घटना की सूचना प्रार्थी बलजीत के द्वारा थाना सोमनी पहुंच कर दी गई। बलजीत की रिपोर्ट पर थाना सोमनी में अपराध क्रमांक 190/20 धारा 363, 364ए, 384 भादवी के तहत रात्रि 10:30 बजे के करीब मामला कायम किया गया।

उन्होंने बताया कि कल रात में ही ढाबा संचालक की पत्नी को दूरभाष पर किसी ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह उर्फ लल्लू के द्वारा 50 लाख रुपए की फिरौती मांगी एवं कहां कि भाभी जी भैया का फोन लग नहीं रहा है। इसलिए आपको जानकारी दे रहा हूं। आपका बेटा हमारे पास सुरक्षित है। 50 लाख रुपयों का बंदोबस्त करें और बच्चे को ले जाएं। इस मामले में सोमनी पुलिस के द्वारा जिस नंबर से फिरौती की मांग की गई थी, उसे ट्रेस करने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर मां का रो – रो कर बुरा हाल है।