खचाखच भरे स्टेडियमों में खेलने की कमी खलेगी,गर्मी का सामना सबसे बड़ा फेक्टर

0
3

   दुबई,
 दक्षिण अफ्रीका के स्टार एबी डिविलियर्स का मानना है कि इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में सभी टीमों के सामने सबसे बड़ी चुनौती यूएई के गर्म और उमस भरे मौसम के अनुकूल ढलने की होगी. अधिकांश मैच रात में खेले जाएंगे, लेकिन हालात फिर भी चुनौतीपूर्ण होंगे.

उन्होंने RCB के ट्विटर हैंडिल पर डाले गए एक इंटरव्यू में कहा,‘मैं इस तरह के मौसम का आदी नहीं हूं, बहुत गर्मी है, मुझे चेन्नई में जुलाई में खेला गया टेस्ट मैच याद आ गया, जिसमें वीरू ने 300 रन बनाए थे, तब भी ऐसी ही गर्मी थी.’

उन्होंने कहा,‘उतनी ही उमस भी है, रात के दस बजे भी, इसका बहुत फर्क पड़ेगा और आपको आखिरी पांच ओवर के लिए ऊर्जा बचाकर रखनी होगी,’ डिविलियर्स ने कहा कि उन्हें भारत में खचाखच भरे स्टेडियमों में खेलने की कमी खलेगी.

उन्होंने कहा,‘हम सभी को खचाखच भरे स्टेडियमों में खेलने की आदत है, खासकर चिन्नास्वामी स्टेडियम में जब दर्शक हौसला अफजाई करते हैं तो मंजर ही अलग होता है, हमें उसकी कमी जरूर खलेगी.’

उन्होंने कहा ,‘लेकिन मैं ऐसा नहीं कहूंगा कि मुझे इसकी आदत नहीं है. मैंने खाली स्टेडियमों में काफी क्रिकेट खेला है, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ही मैंने भरे हुए स्टेडियम देखे हैं,

डिविलियर्स ने कहा कि हर खिलाड़ी कोरोना वायरस महामारी के कारण लंबे ब्रेक के बाद मैदान पर लौटकर खुश हैं. उन्होंने कहा,‘सभी अच्छे प्रदर्शन को बेताब हैं. वे नई ऊर्जा लेकर आए हैं और बेहतरीन क्रिकेट देखने को मिलेगा.’