कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए राजेंद्र गुर्जर

0
3

भिंड

उपचुनाव के मौसम में दलबदल का दौर जारी है। बुधवार को कांग्रेस के दो प्रदेश सचिवों ने पार्टी छोड़ दी। राजेंद्र गुर्जर ने राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के समक्ष भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। वहीं चार महीने पहले ही कांग्रेस में आए सुरेश सिंह राजपूत फिर समाजवादी पार्टी में पहुंच गए हैं। उन्होंने चुनाव मैदान में उतरने का ऐलान भी कर दिया है। वे शुक्रवार को नामांकन फाॅर्म दाखिल करेंगे।

वर्ष 2018 में भी सुरेश सिंह राजपूत समाजवादी पार्टी के टिकट पर मेहगांव से चुनाव लड़ चुके हैं। चार महीने पहले 4 जून को उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के समक्ष कांग्रेस की सदस्यता ली थी। कांग्रेस ने उन्हें प्रदेश सचिव की जिम्मेदारी दी थी। वे मेहगांव से टिकट मांग रहे थे। टिकट न दिए जाने पर उन्होंने बुधवार को कांग्रेस से नाता तोड़ लिया। राजपूत के अनुसार, उन्हें सपा ने मेहगांव से प्रत्याशी बनाया है। वे 16 अक्टूबर शुक्रवार को अपना नामांकन फाॅर्म दाखिल करेंगे।

गुर्जर के चुनाव मैदान में उतरने की थी अटकलें
मेहगांव विधानसभा सीट से कांग्रेस से हेमंत कटारे को प्रत्याशी बनाए जाने के बाद से ही राजेंद्र गुर्जर के नाराज होने की चर्चा चल रही थी। साथ ही उनके किसी अन्य पार्टी से चुनाव मैदान में कूदने की अटकलें भी लगाई जा रही थी लेकिन बुधवार को उन्होंने भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। भाजपा को राजेंद्र के पार्टी में आने से गुर्जर वोट का लाभ मिलने की आशा है।