इंदौर में 32 इंच वर्षा पानी ,यशवंत सागर के सभी गेट खुले

0
4

 इंदौर

पिछले 24 घंटे से लगातार मूसलाधार बारिश से इंदौर पानी-पानी हो गया है। शहर की औसत बारिश 34 इंच है। जबकि पिछले 24 घंटे में ही 11 इंच से ज्यादा बारिश हाे चुकी है। अब तक इंदाैर में करीब 32 इंच पानी गिर चुका है। जाेरदार बारिश से इंदाैर की 50 से ज्यादा काॅलाेनियां पानी-पानी हाे गईं। 20 से ज्यादा निचली बस्तियों में तो कमर तक पानी भरा है। भावना नगर क्षेत्र में कार और रिक्शा जलमग्न हो गए। इसके अलावा इंदौर की लाइफ लाइन कहलाने वाला यशवंत सागर बांध भी रातभर में लबालब होने से सभी गेट खोल दिए गए हैं।

शुक्रवार शाम 4 बजे से बारिश का सिलसिला जारी
बारिश का सिलसिला शाम 4 बजे शुरू हुआ जो लगातार जारी है। रात 8 बजे तक 4 घंटे में 3 इंच बारिश हुई। इसके बाद ऐसे बादल फटे कि सुबह साढ़े 8 बजे तक 8 इंच से ज्यादा पानी गिर गया। यह इस सीजन में अब तक की सबसे तेज बरसात है। मौसम वैज्ञानिकों ने शनिवार को दिनभर तेज बारिश की संभावना जताई है। इंदौर के साथ जिले के सांवेर, महू, देपालपुर और गौतमपुरा में भी भारी बारिश हो रही है।

सुबह 4 बजे से कलेक्टर, डीआईजी, सांसद निगम कंट्रोल रूम में मौजूद
रातभर से हो रही तेज बारिश से हालात बदतर हो गए। लगातार कॉलाेनियों से पानी भरने की सूचना निगम कंट्रोल पहुंच रही है। हालात का जायजा लेने के लिए अलसुबह से ही कलेक्टर मनीष सिंह, डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र, निगम कमिश्नर प्रतिभा पॉल और सांसद शंकर लालवानी नगर निगम कंट्रोल रूम में मौजूद हैं। जहां से भी सूचना आ रही है, तत्काल निगम टीम को भेजा जा रहा है। वहीं, कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को फील्ड में रहने के निर्देश दिए हैं।

इन क्षेत्रों में भरा पानी
छोटा बांगड़दा क्षेत्र की निचली बस्तियों के घरों में पानी तीन से चार फीट पानी भरा हुआ है। इसके अलावा, भावना नगर भी पानी-पानी हो गया है। यहां डूबी कार और रिक्शा तक डूब गए हैं। ओमेक्स सिटी में घरों में पानी घुस गया है। यहां कॉलोनी की सड़कों पर 3 फीट पानी बह रहा है। राजमोहल्ला जोन के भक्त प्रहलाद नगर में सड़कें डूब चुकी हैं। घरों में 3-3 फीट पानी भरा गया है। जूनी इंदौर में जल जमाव हो चुका है। राज नगर, रामानंद नगर, मूसाखेड़ी मोती तबेला, झाड़ू गली, राजेश नगर, खातीपुरा, जूनी मुक्तिधाम, विंध्यनगर, एयरपोर्ट रोड, भूतेश्वर महादेव क्षेत्र, कालानी नगर, गौतमपुरा में पानी घरों में घुस चुका है। वहीं, जोरदार बारिश की वजह से तुलसी नगर मुख्य मार्ग को जोड़ने वाली पुलिया का एक हिस्सा पानी में बह गया है। इसके अलावा तीन इमली चौराहा से नवलखा तक की सड़क लबालब हो चुकी है। बीआरटीएस ने तो नाले का रूप ले लिया है।