अधिकारियों को निर्देश, स्टार्टअप नीति के तहत अधिक-से-अधिक रोजगार दिलाएं: CM नीतीश

0
1

पटना 
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि बिहार स्टार्टअप नीति के तहत अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मिले, यह सुनिश्चित करें। इसके लिए लोगों को प्रेरित करें। अगर वैकल्पिक चीजों की व्यवस्था से इसमें लाभ मिले तो उसे भी करें। साथ ही कौशल विकास मिशन के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों को प्रशिक्षित करते रहें, ताकि उन्हें रोजगार उपलब्ध हो। युवाओं को इसके लिए प्रेरित करते रहें।

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में गुरुवार को बिहार विकास मिशन के शासी निकाय की वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम बैठक हुई। बैठक में सात निश्चय की योजनाओं की प्रगति के साथ-साथ बिहार विकास मिशन के अन्य उप मिशन के लक्ष्यों एवं प्रगति, मिशन मानव विकास के महत्वपूर्ण सूचकांकों की प्रगति आदि की विभागवार समीक्षा हुई। बैठक में मुख्यमंत्री ने पिछले के निर्णय के आलोक में हुए कार्यों की जानकारी ली और आगे के लिए कई निर्देश भी दिए। 

उन्होंने कहा कि हर घर नल का जल और हर घर तक पक्की गली नालियों का निर्माण का कार्य लगभग पूर्ण हो गया है। बचे हुये कामों को शीघ्र पूरा करें। गुणवत्ता प्रभावित वार्डों में भी काम तेजी से करें। मुख्यमंत्री ग्रामीण टोला सम्पर्क योजना के तहत सभी बसावटों तक पक्की गली नाली का निर्माण भी पूर्ण करें। सामुदायिक शौचालय का उपयोग करने वाले सभी घरों को चाभी सौंपे। 

सर्वे से भूमि विवाद खत्म होगा, बिहार आइडियल प्रदेश बन जाएगा 
मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि रोडमैप के लागू होने से फसलों के उत्पादन और उत्पादकता में वृद्धि हुयी है। किसानों को सिंचाई में लाभ देने के लिए अलग से कृषि फीडर लगाये जा रहे हैं। किसानों को कनेक्शन दिये जा रहे हैं। राज्य में 60 प्रतिशत से ज्यादा झगड़ों का कारण जमीनी विवाद है। हमलोगों ने पारिवारिक बंटवारे के आधार पर निबंधन शुल्क को मात्र 100 रूपये कराया। जमीन विवाद खत्म होने से समाज में झगड़ा घटेगा। हमलोगों ने नये सिरे से सर्वे कराने का कार्य शुरू कराया है। यह कार्य जितना जल्दी पूर्ण हो जायेगा उतना ही जल्द जमीन विवाद खत्म होगा और बिहार एक आइडियल प्रदेश बन जाएगा। 

थम्ब वेरीफिकेशन में दिक्कत वालों को पहले राशन दें
मुख्यमंत्री ने कहा कि नये राशन कार्डों का वितरण कराया गया है। हमलोग तय कर चुके हैं कि सभी का राशन कार्ड बन जाय। अनाज वितरण में किसी प्रकार की गड़बड़ी नहीं हो। जिनके थम्ब वेरीफिकेशन में दिक्कत है, उनका नाम नोट करें और सबसे पहले उन्हें ही राशन उपलब्ध करायें। कहा कि प्रत्येक जिले में चिन्ह्ति बागवानी फसल शुरू कराई गई है। आठ जिलों में जलवायु अनुकूल कृषि कार्यक्रम शुरू किये गये हैं, जल्द सभी जिलों में इसे शुरू किया जायेगा। कान्टेक्ट फार्मिंग को बढ़ावा दें, इससे जीविका समूह की महिलाएं जुड़ रही हैं। कृषि के क्षेत्र में महिलाओं की भी महत्वपूर्ण भूमिका है।