दो लाख विद्यार्थी रजिस्ट्रेशन से वंचित, अंतिम सेमेस्टर की ओपन बुक एग्जाम का एसआईएस रजिस्ट्रेशन बंद

0
3

भोपाल, प्रदेश के समस्त विवि को अंमित सेमेस्टर और वर्ष की परीक्षा कराना है। इसके लिए विद्यार्थियों को एसआईएस (स्टूडेंट इंर्फोमेशन सिस्टम) में पंजीयन कराना अनिवार्य है। एसआईएस लागिन तैयार करने सभी विवि के रजिस्ट्रार ने रजिस्टेशन बंद करा दिए हैं। जबकि दो लाख विद्यार्थी रजिस्ट्रेशन कराने से वंचित बने हुए हैं। अब ये रजिस्ट्रेशन सोमवार से शुरू होंगे। देवी अहिल्या विवि इंदौर के सभी करीब साठ हजार विद्यार्थियों ने अपना रजिस्टेशन करा लिया है। इसलिए डीएविवि के सभी विद्यार्थी परीक्षाओं मे शामिल हो पाएंगे। ओपन बुक एग्जाम के तहत यूजी के अंतिम वर्ष और पीजी के अंतिम सेमेस्टर में करीब साढ़े चार लाख विद्यार्थियों को शामिल होना है।

इसलिए  उनका रजिटर्ड होना अनिवार्य है, लेकिन अभी तक सभी विवि के करीब ढाई लाख विद्यार्थी ही अपना रजिस्ट्रेशन करा सके हैं। सभी विवि ने अपनी परीक्षाओं का टाइम टेबिल जारी नहीं की और एसआईएस की अंतिम तिथि जारी कर दी। अभी तक करीब दो लाख विद्यार्थी रजिस्ट्रेशन करने से वंचित बने हुए हैं। इसके अभाव में विद्यार्थी परीक्षाओं से वंचित रह सकते हैं। रजिस्ट्रेशन बंद होने से विद्यार्थियों में हड़कंप की स्थिति बनी हुई हे। इससे लेकर विवि और विभागीय और रजिस्टेÑशन कराने वाली एजेंसी एमपीआनलाइन के अधिकारियों की बैठक कर पर चर्चा हो चुकी है। जहां निर्णय लिया गया है कि रजिस्ट्रेशन दोबारा से खोले जाएंगे। अब विद्यार्थी सोमवार से दोबारा रजिस्ट्रेशन करा पाएंगे। अंतिम तिथि निर्धारण विवि अपने टाइम टेबिल जारी करने के बाद ही कर पाएंगे। जब तक वे टाइम टेबिल जारी नहीं कर देंगे। तब तक वे रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि जारी नहीं करेंगे, ताकि ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थी भी आसानी से अपना रजिस्ट्रेशन कराकर परीक्षा में शामिल हो सकें।

परीक्षा फीस जमा करना अनिवार्य
ओपन बुक एग्जाम में शामिल होने के लिए विद्यार्थियों का एग्जाम फीस जमा करना अनिवार्य है। उनका एसआईएस रजिस्ट्रेशन नहीं होने से उन्हें अपने विषय का पेपर अपने एसआईएस एकाउंट में नहीं मिल पाएगे, लेकिन वे अपने सहपाठी मित्र से पेपर लेकर परीक्षा दे पाएंगे। पेपर लेकर वे ओपन बुक एग्जाम में शामिल होने के लिए काफी को विवि में जमा कर पाएंगे। इसके बाद उनका मूल्यांकन भी होगा और उनके रिजल्ट भी जारी किए जाएंगे। वहीं विवि ऐसे विद्यार्थियों केएग्जाम फार्म भी जमा कराएगा, जो पूर्व में जमा नहीं कर पाए हैं।

एक दर्जन विवि के विद्यार्थी एसआईएस में रजिस्ट्रेशन
बीयू, डीएविवि, विक्रम विवि उज्जैन, छिंदवाड़ा, महाराजा छत्रसाल विवि छतरपुर, अवधेश प्रताप विवि रीवा, एमसीयू भोपाल, आरजीपीवी भोपाल, रानी दुर्गावति विवि जबलपुर, जीवाजी विवि ग्वालियर, भोज मुक्त विवि के विद्यार्थियों का अपना रजिस्ट्रेशन करना है। एक दर्जन विवि में सबसे ज्यादा डीएविवि इंदौर के साठ हजार विद्यार्थियों ने अपना रजिस्ट्रेशन करा लिया है। मतलब डीएविवि के शत प्रतिशत विद्यार्थियों का रजिस्ट्रेशन एसआईएस में दर्ज हो चुके हैं।