अधर में 15 हजार संविदा शिक्षकों की भर्ती

0
1

भोपाल, व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) दोबारा कराई गई उच्च शिक्षक पात्रता परीक्षा के रिजल्ट पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। इसकी वजह पहली बार परीक्षा में शामिल आवेदक दूसरी बार की परीक्षा में फेल हो गए हैं। इसलिए हाईकोर्ट के अंतिम निर्णय के बाद ही व्यापमं एग्जाम का रिजल्ट जारी कर मेरिट दे पाएगा।

व्यापमं को शासन बंद करने जा रहा है। इसके अंतिम रिजल्ट पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। व्यापमं ने 29 सितंबर को उच्च शिक्षक पात्रता परीक्षा को दोबारा से आयोजित कराया था। इसमें करीब साढ़े 15 हजार आवेदकों को शामिल किया गया था। परीक्षा में शामिल हुए आवेदकों में कई ऐसे थे, जो दूसरी बार की परीक्षा में फेल हो गए हैं। उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दायर करते हुए कहाकि वे पहली बार की परीक्षा में पास हो गए थे। इसलिए उनके पहले वाले रिजल्ट को ही मान्य किया जाए। क्योंकि वे दूसरी बार की परीक्षा में फेल हो गए हैं, जिसके कारण वे स्कूल शिक्षा विभाग की भर्ती प्रक्रिया बाहर हो गए हैं। हाईकोर्ट ने याचिका पर गौर करते हुए व्यापमं को रिजल्ट जारी करने से रोक दिया है। अब जब तक हाईकोर्ट अपना अंतिम फैसला नहीं दे देता है। तब व्यापमं अब रिजल्ट जारी नहीं कर सकता है।

अटक सकती है भर्ती प्रक्रिया
अंग्रेजी का रिजल्ट नहीं आने की दशा में स्कूल शिक्षा विभाग संविदा उच्च शिक्षकों की भर्ती नहीं कर सकता है। वहीं आवेदकों का कहना है कि उनके पूर्व को रिजल्ट को मान्य करते हुए व्यापमं दूसरी बार की परीक्षा में उत्तीर्ण हुए आवेदकों के साथ संयुक्त सूची बनाकर जारी करे, जिससे कोई आवेदक भर्ती प्रक्रिया से बाहर नहीं हो पाएगा।

साठ केंद्रों पर हुई थी परीक्षा
व्यापमं ने 29 सितंबर को अंग्रेजी सब्जेक्ट में उच्च शिक्षक पात्रता परीक्षा दोबारा आयोजित कराई थी। इसके लिए व्यामपं ने राज्य के 16 शहरों के साठ परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा आयोजित कराई थी। इसमें आवेदकों की उपस्थिति करीब 86 फीसदी बताई गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here