प्रदेश में विकास रोकना चाहते हैं विपक्षी दल: सीएम योगी

0
6

लखनऊ, उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित युवती के साथ गैंगरेप और हत्या के मामले को लेकर सियासी बवाल मचा हुआ है। केस को लेकर यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर है। शनिवार को मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले पर राजनीति करने को लेकर विरोधियों पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने विपक्षी दलों पर जातीय दंगा भड़काने की साजिश रचने का आरोप लगाया और कहा कि वे प्रदेश में विकास रोकना चाहते हैं।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर माहौल बिगाड़ने की कोशिश का आरोप लगाया है. सीएम योगी ने कहा है कि इन्हें विकास अच्छा नहीं लग रहा. इसलिए ये देश और प्रदेश में जातीय दंगे, सांप्रदायिक दंगे कराने की साजिश कर रहा है, जिससे ये अपनी राजनीति कर सकें. दंगे से प्रदेश का विकास रुकेगा.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, जिसे विकास अच्छा नहीं लग रहा, वे लोग देश में और प्रदेश में भी जातीय दंगा भड़काना चाहते हैं-सांप्रदायिक दंगा भड़काना चाहते हैं। उन्होंने आगे कहा कि इस दंगे की आड़ में (उत्तर प्रदेश में) विकास रुकेगा और इसकी आड़ में उन्हें अपनी रोटियां सेंकने का अवसर मिलेगा, इसलिए वे नित नए षड्यंत्र करते रहते हैं। सीएम ने कहा कि इन षड्यंत्रों के प्रति पूरी तरह से आगाह होते हुए भी हमें इस विकास की प्रक्रिया को आगे बढ़ाना है।

विपक्ष के निशाने पर योगी सरकार
बता दें कि हाथरस में युवती के साथ गैंगरेप और उसकी हत्या के बाद पुलिस की कार्रवाईयों पर सवाल उठाए गए। पीड़िता के शव को जबरन जलाए जाने के मामले को लेकर विपक्षी दलों के अलावा बीजेपी के अंदर से भी नेताओं ने योगी सरकार से सवाल किए। पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी शनिवार को हाथरस भी पहुंचे,जिसे लेकर खूब बवाल मचा। कांग्रेस के अलावा समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने भी घटना की निंदा करते हुए योगी सरकार पर हमला बोला।

डीएम को हटाने की मांग
मामले को लेकर एसआईटी जांच चल रही थी लेकिन विपक्षी दलों ने इसकी सीबीआई जांच की मांग की थी। इसके बाद शनिवार देर शाम सीएम ने मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी। हालांकि, सीएम के इस ऐलान के बाद भी लोगों के मन में जांच को लेकर आशंकाएं हैं। बीएसपी ने सवाल उठाते हुए कहा कि डीएम के रहते मामले की निष्पक्ष जांच सीबीआई भी कैसे कर सकती है। वहीं अन्य दलों ने भी डीएम को हटाने की मांग की।