MP की 28, CG की एक समेत 11 राज्यों की 56 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव का ऐलान

0
3

नई दिल्ली
कोरोना संक्रमण के बीच चुनाव आयोग ने मंगलवार को मध्यप्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया। मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात और उत्तरप्रदेश समेत 10 राज्यों की 54 विधानसभा सीटों पर तीन नवंबर को मतदान होगा। वहीं, बिहार की एक लोकसभा सीट और मणिपुर की दो विधानसभा सीटों पर सात नवंबर को वोट डाले जाएंगे। सभी सीटों के नतीजे बिहार चुनाव 2020 के नतीजों के साथ 10 नवंबर को ही आएंगे। चुनाव की घोषणा के साथ ही आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गई है। वोटिंग के लिए आवश्यक व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं।

मप्र की सीटें
ग्वालियर, डबरा, बमोरी, सुरखी, सांची, सांवेर, सुमावली, मुरैना, दिमनी, अंबाह, मेहगांव, गोहद, ग्वालियर पूर्व, भांडेर, करैरा, पोहरी, अशोकनगर, मुंगावली, अनूपपुर, हाटपिपल्या, बदनावर, सुवासरा, बड़ामलहरा, नेपानगर, मंधाता, जोरा, आगर, ब्यावरा

छग की मरवाही सीट
छत्तीसगढ़ की मरवाही विधानसभा सीट राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री व जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजीत जोगी के निधन के बाद रिक्त हुई है। यह सीट कांग्रेस के लिए बेहद मायने रखती है। कांग्रेस ने इसे जीतने के लिए पूरी ताकत लगा रखी है।

इन राज्यों में भी पड़ेंगे वोट
मप्र की 28 और छग की एक के अलावा गुजरात की 8, हरियाणा की 1, झारखंड की 2, कर्नाटक की 2, मणिपुर की 2, नगालैंड की 2, ओडिशा की 2, तेलंगाना की 1 सीट और उत्तरप्रदेश की 7 सीटों पर उपचुनाव होने हैं। साथ ही बिहार की बाल्मीकी नगर लोकसभा सीट पर वोटिंग होगी।

80 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति के लिए डाक मतपत्र की सुविधा
कोरोना संक्रमण के चलते 80 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति को डाक मतपत्र की सुविधा दी जाएगी। ऐसे मतदाता अपने घर से ही मतदान कर सकेंगे। इसके साथ ही कोरोना संक्रमित और संदिग्ध को भी डाक मतपत्र दिया जाएगा। मतदानकर्मी, ऐसे मतदाताओं के घर जाकर डाक मतपत्र लेकर आएंगे। इस पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी।

केरल, तमिलनाडु, असम और पश्चिम बंगाल की 7 सीटों पर चुनाव टले
केरल, तमिलनाडु, असम और पश्चिम बंगाल की सात सीटों पर इस समय उपचुनाव नहीं कराया जाएगा। आयोग ने यह फैसला संबंधित राज्यों के अनुरोध के बाद किया। आयोग ने कहा कि उसे राज्यों के चुनाव अधिकारियों और मुख्य सचिवों से इस संबंध में जानकारी दी गई है। उपरोक्त तथ्यों को देखते हुए आयोग ने इस समय यहां चुनाव नहीं कराएगा।