किसी भी गडबडी के लिए जिम्मेदार होंगे स्थानीय अधिकारी

0
5

awdhesh dandotia

मुरैना, चम्बल संभाग के कमिश्नर आरके मिश्रा ने कहा कि  चुनाव के दौरान जहां पर भी थोड़ी सी गड़बड़ी मिली सीधे सम्बन्धित अधिकारी की जिम्मेदारी ठहराते हुए कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि वल्नरेवल की मैपिंग का रिव्यू रिटर्निग अधिकारी तहसीलदार, पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक पुनः कर लें। समय रहते मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इन्तजाम अभी से सुनिश्चित किये जाये। चुनाव की सभी व्यवस्थाएँ बेहत्तर ढंग से हो। कमिश्नर मिश्रा ने कहा कि रिटर्निग ऑफीसर चुनावी जानकारियों से डेली अपडेट रहे। चुनावी नियमों का गहन अध्ययन करें। स्वच्छ पारदर्शी और निष्पक्ष चुनाव कराना हम सभी की मेंहती जिम्मेदारी है, चुनाव के दौरान अनुकूल वातावरण रहे। निर्भिक होकर मतदाता मतदान करने आये, इसी में मतदान के प्रतिशत में भी वृद्धि होगी।

कमिश्नर मिश्रा शनिवार को न्यू कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में विधानसभा उप निर्वाचन 2020 की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में कलेक्टर मुरैना अनुराग वर्मा, पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया, अपर आयुक्त अशोक कुमार चैहान, संयुक्त आयुक्त विकास राजेन्द्र सिंह, अपर कलेक्टर उमेश शुक्ला, उप जिला निर्वाचन अधिकारी एलके पाण्डे सहित सभी विधानसभा क्षेत्रों के रिटर्निग ऑफीसर सहित चुनाव से जुड़े अधिकारी मौजूद थे।

बैठक को सम्बोधित करते हुए कमिश्नर मिश्रा ने सभी रिटर्निंग ऑफीसरों को दोहराते हुए निर्देश दिये कि वे चुनाव आयोग के निर्देशों से डेली अपडेट रहे। उन्होंने कहा कि जो कार्यवाही वे कर रहे है। उसका पूरी तरह से ज्ञान होना चाहिए। यानी चुनावी नियमों मार्गदर्शिका का गहराई से अध्ययन कर लें। उन्होनें कहा कि चुनाव आयोग 6 अक्टूबर को उप चुनाव की तैयारियों की गंभीरता से समीक्षा करेगा। इस दौरान सभी की तैयारियाँ बेहत्तर रहे। कहीं पर भी कोई कमी पेशी नहीं रहे। हम स्वयं यह मेहसूस करें कि हमारी चुनावी तैयारियाँ पूर्ण है। हम स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण मतदान कराने के लिये सक्षम है। इसी तरह आप सभी के अधीनस्त एस.एस.टी, एफ.एस.टी को भी प्रभावी बनाये। सेक्टर अधिकारियों से शाम के समय भ्रमण कराये। उन्होने कहा वल्नरेवल मतदान केन्द्रों की मैंपिग पुनः कर लें। चुनाव में विध्न डालने वाले बाहुबलियों के खिलाफ लगातार कार्यवाही करते रहे, अगर ऐसे लोग फरार है और ऐसा लगता है कि चुनाव के दौरान यह गड़वड़ी कर सकते है। ऐसे लोगों के खिलाफ अभी से कार्यवाही हो। केश और शराब के परिवहन की चैकिंग भी प्रभावी ढंग से हो। चैकिंग के दायरे को बढ़ाया जाये। उन्होने कहा जिले में धारा 144 प्रभावी है लेकिन अभी तक इसमें कोई कार्यवाही नहीं हुई है। उन्होने पुलिस अधिकारियों से कहा कि वे बर्दी और डण्डे का प्रभाव बताये। उन्होनें कहा कि मोटर व्हीकल और आवकारी एक्ट के तहत भी कार्यवाही की जाये।

कमिश्नर ने कहा कि अभी भी आपराधिक तत्वों के खिलाफ कार्यवाही करने की जरूरत है। उन्होनें कहा एतियात की कार्यवाही प्रभावी तरीके से हो। प्रतिबन्धात्मक कार्यवाही की संख्या को और बढ़ाये चुनाव में हिंसा शराब की तस्करी, आपराधिक कृत्य वरदास्त नहीं होगी।

जहां पर भी कोई गड़वड़ी मिलेगी। सम्बन्धित को जिम्मेदार ठहराते हुए कार्यवाही होगी। आम्र्स एक्ट के तहत शत-प्रतिशत कार्यवाही हो जाये। वल्नरेवल और क्रिटिकल मतदान केन्द्रों की पुनरू समीक्षा कर लें।

अगर जिला बदर की कार्यवाही की और जरूरत है तो जरूर करें। चुनाव से जुड़े सभी रिटर्निग ऑफीसर और पुलिस अधिकारी चुनाव कराने के लिये सन्तुष्ट होना चाहिए। उन्होनें कहा कि संपत्ति विरूपण के तहत जितने मामले दर्ज हुए है, उनकी चार्ज सीट जारी करके उनके खिलाफ दण्डात्मक कार्यवाही की जाये।

बॉन्डओव्हर की कार्यवाही लगातार जारी रहे। धार्मिक स्थलों पर नारे आदि लिखे पाये जाये तो तत्काल एफ.आई.आर की कार्यवाही की जाये। जहां धार्मिक स्थल है, वहां आमसभा की अनुमति नहीं दी जाये। मजिस्ट्रेटों और पुलिस अधिकारियों में कम्यूनिकेशन का गैप नहीं रहना चाहिये। पिछले 3 चुनावों की घटनाओं को देखकर ऐसे प्रयास हो कि वहां घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो। जिन सीमाओं से अनैतिक सामग्री जैसे बांटने के लिये साड़ियां, पैसा, शराब आदि आता हो, वहां दोगुना फोर्स तैनात किया जाये। संपूर्ण चुनावी क्षेत्रों में आचार संहिता लागू है, अगर सोशल मीडिया या प्रिन्ट मीडिया में कोई गलत खबर प्रकाशित होती है तो तत्काल उसका खण्डन कराया जाये। गैर जमानती वारन्टियों की तामीलों प्राथमिकता से की जाये।

कलेक्टर अनुराग वर्मा ने उप चुनाव की तैयारियों से अवगत कराया कि मुरैना जिले की पांचो विधानसभा क्षेत्रों में 1 हजार 726 मतदान केन्द गठित किये गये है। इन केन्द्रों पर पहुंचने के लिये 1 हजार 31 रूट चार्ट बनाये गये है। 1 हजार 448 बी.एल.ओ., 133 सेक्टर अधिकारी बनाये है। पांचों विधानसभा क्षेत्रों में 11 लाख 76 हजार 223 मतदाता है। इनमें 837 जेण्डर रेश्यों 60.48 ई.पी. रेश्यों है। 8 हजार 608 सर्विस वोटर, 9 हजार 27 वोटर 80 वर्ष आयु के है। 13 हजार 432 पीडब्ल्यूडी वोटर है। जिले की जनसंख्या 19 लाख 35 हजार 243 है।

पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया ने कहा कि जिले में 127 वल्नरेवल है। उन्होंने कहा कि जिले में लगभग 5 हजार से अधिक वल्नरेवल परशन चिन्हित किये है। इनके तहत 107, 116, 110 सी.आर.पी.सी के तहत कार्रवाही की जा रही है। अभी तक 204 परशन के खिलाफ कार्रवाही की जा चुकी है। 141 को गिरफ्तारी वारेंट जारी किये है। एक करोड़ 7 लाख 56 हजार रूपये कीमत की 18 हजार 573 लीटर अवैध शराब जप्त की गई है। इसके साथ 55 वाहन भी जप्त किये है। 27 हजार 458 शस्त्रों में से 9 हजार 221 शस्त्र जमा कराये जा चुके है। पुलिस अधीक्षक ने सभी पुलिस अधिकारियों से कहा कि शेष 18 हजार 237 शस्त्र को 15 अक्टूबर 2020 तक जमा करायें।