कुनाल चौधरी ने सबूत के साथ बताया कि कमलनाथ सरकार ने 26 लाख 95 हज़ार किसानों का क़र्ज़ माफ़ किया

0
7

कर्जमाफ़ी को लेकर BJP सरकार के झूठ का किया पर्दाफ़ाश

भोपाल, मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष और कालापीपल से कांग्रेस के विधायक कुणाल चौधरी ने आज एक प्रेस कान्फ्रेंस में ऐसे कई किसानों को प्रस्तुत किया जिनके बैंक खातों में कमलनाथ सरकार ने कर्जमाफी के पैसे ट्रांसफर किये गये है ।कुणाल चौधरी ने सबूत के साथ बताया कि कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने 26 लाख 95 हज़ार किसानों का क़र्ज़ माफ़ किया है।

कमलनाथ सरकार ने सरकार बनने के दो घंटे के भीतर ही कर्ज माफी का फैसला कर किसानों के आंसू पोंछे मगर अब तक भारतीय जनता पार्टी कर्जमाफी को लेकर सिर्फ झूठ बोलते हुए, दुष्प्रचार करती रही है। कुणाल चौधरी ने कहा कि अब शिवराज सिंह चौहान प्रदेश के सीएम है लेकिन अभी भी वह और उनके नेता अलग-अलग मंच से कर्जमाफी को लेकर झूठ बोल रहे हैं। जबकि विधानसभा में सरकार स्वयं स्वीकार कर चुकी है कि कमलनाथ सरकार ने 26लाख 95 हजार किसानों का कर्जा माफ किया है।

कुणाल चौधरी ने कहा कि विधानसभा में खुद किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल सदन में बताया कि कांग्रेस की कमलनाथ जी की सरकार ने प्रथम चरण में 20 लाख 23 हज़ार 136 किसानों का 7 हज़ार 108 करोड़ का कर्ज माफ किया.  दूसरे चरण में 6 लाख 72 हज़ार 245 किसानों का 4 हज़ार 538 करोड़ माफ करने की स्वीकृति दी गई एवं 5 लाख 90 हज़ार 848 किसानों का 7 हज़ार 492 करोड़ स्वीकृति हेतु शेष है.  सरकार ने अधिकृत रूप से कर्जमाफी की बात को स्वीकारा किया है। लेकिन उसके बाद भी सीएम शिवराज सिंह चौहान और मिस्टर जयचंद ज्योतिरादित्य सिंधिया हर मच से बोल रहे है कि किसानों का क़र्ज़ माफ़ नहीं हुआ, इससे भारतीय जनता पार्टी का चाल, चरित्र और चेहरा सामने आता है।

कुणाल चौधरी ने कहा कि बीजेपी का झूठ बोलो, ज़ोर से बोलो और बार-बार बोलो अभियान अब बेनकाब हो गया है।

लोकतंत्र की हत्या कर के जो सरकार बीजेपी ने बनाई है यह ज्यादा दिन नहीं टिकने वाली है ।आने वाले उपचुनावों में कांग्रेस की सत्ता में वापसी होने जा रही है और फिर से कमलनाथ जी की सरकार बनते ही बाकी किसानों की वचन अनुसार कर्जमाफी होगी।

कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने सीधे सवाल करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री केवल दो बातों का जवाब दें कि 15 साल तक राज करने के बाद भी प्रदेश के 53लाख किसान कर्जदार क्यों हुए?आप तो शून्य प्रतिशत पर पैसा दे रहे थे? एवं स्पष्ट बतायें कि प्रदेश में 26लाख 95 हजार किसानों का कर्जा माफ हुआ कि नहीं हुआ? घुमा फिरा कर बातें करके अपने 15 साल के पापों को छुपाने की कोशिश जनता ने 2018 में नाकाम की है और इन उपचुनाव में भी करेगी।शिव-ज्योति पैसेंजर दो स्टेशन भी पार नहीं कर पायेगी।

पत्रकार वार्ता में कालापीपल क्षेत्र के 50 से अधिक किसान अपनी पासबुक खाता बही और प्रमाण पत्र लेकर आए और उन्होंने अपनी बैंक पासबुक में 1 लाख 92000 तक के कर्ज माफी की एंट्री दिखाएं और पत्रकार बंधुओं के प्रश्नों का सीधा सामना किया भारतीय जनता पार्टी के झूठ और संवैधानिक पदों पर बैठकर दुष्प्रचार करने वाले मंत्रियों का आज स्वयं किसानों ने पर्दाफाश कर दिया।